News

पश्चिम बंगाल और असम में पहले चरण की वोटिंग जारी

Created at - April 4, 2016, 7:59 am
Modified at - April 4, 2016, 7:59 am

कोलकाता: पश्चिम बंगाल और असम विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण के लिए वोटिंग जारी है. लोग सुबह से ही मतदान करने घर से निकल पड़े हैं. दोनों राज्यों में मतदान को लेकर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं. जहां पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को वाम मोर्चा-कांग्रेस गठबंधन से कड़ी टक्कर मिल रही है, वहीं तरुण गोगोई महत्वपूर्ण पूर्वोत्तर राज्य में सत्ता पर कब्जा बरकरार रखने के लिए भरपूर प्रयास कर रहे हैं. आज पश्चिम बंगाल में 18 और असम में 65 विधानसभा सीटों पर सुबह से ही मतदान पड़ रहा है. पश्‍चिम बंगाल में छह चरणों में सात तिथियों पर चुनाव होना है. पहले चरण में चार और 11 अप्रैल को वोट डाले जायेंगे. आज जिन 18 सीटों पर मतदान जारी है, वहां 133 उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे हैं. इनमें 122 पुरुष व 11 महिला उम्मीदवार हैं. कुल 40 लाख नौ हजार 414 वोटर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे. 4945 पोलिंग स्टेशन तथा 4203 मतदान परिसर का इस्तेमाल किया जा रहा है. तृणमूल कांग्रेस व भाजपा ने सभी 18 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. कांग्रेस पांच और माकपा 11 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. फॉरवर्ड ब्लॉक व भाकपा के एक-एक उम्मीदवार मैदान में हैं. बसपा के भी पांच उम्मीदवार किस्मत आजमा रहे हैं. राज्य के अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी दिब्येंदू सरकार ने बताया है कि 4945 पोलिंग स्टेशनों में से रविवार शाम तक 4200 पोलिंग स्टेशनों पर चुनावकर्मी पहुंच चुके थे. पुरुलिया की चार विधानसभा सीटें बांदवान, बाघमूंडी, बलरामपुर व जयपुर दुर्गम इलाके में हैं. लिहाजा चुनाव कर्मियों को यहां पहुंचाने के लिए उन्हें 21 अस्थायी शेल्टरों में रविवार रात को रखा गया है. चुनावकर्मी तड़के ही यहां के पोलिंग स्टेशनों में पहुंच गए. गोपीवल्लभपुर में माकपा के पुलिन बिहारी बास्के, तृणमूल के चूरामणि महतो. झाड़ग्राम में तृणमूल कांग्रेस के सुकुमार हांसदा व झारखंड पार्टी (नरेन) की चूनीबाला हांसदा. पुरुलिया में तृणमूल कांग्रेस के दिव्यज्योति प्रसाद सिंह देव व कांग्रेस के सुदीप कुमार मुखर्जी तथा मेदिनीपुर में तृणमूल के मृगेंद्र नाथ माइती, भाकपा के संतोष राणा हेवीवेट उम्मीदवार हैं. दिब्येंदू सरकार ने बताया कि सुरक्षा की तगड़ी व्यवस्था की गयी है. माओवाद प्रभावित हर बूथ में केंद्रीय बल का न्यूनतम एक सेक्शन यानी आठ जवान तथा गैर माओवाद प्रभावित बूथ में न्यूनतम आधा सेक्शन केंद्रीय बल रहेगा. इसके अलावा दो हेलीकॉप्टर इलाके का चक्कर लगा रहे हैं. जरूरत पड़ने पर एयर एंबुलेंस तैयार है. इसके अलावा एंटी लैंडमाइन डिवाइस व अन्य जरूरी उपकरण भी तैयार रखे गये हैं.


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News