भोपाल News

भोपाल: शिवराज कैबिनेट की बैठक में बाघों की मौत, सिहस्थ कुंभ समेत कई प्रस्तावों पर चर्चा

Last Modified - April 21, 2016, 9:53 pm

भोपाल। शिवराज कैबिनेट की बैठक मे गुरुवार को सिंहस्थ कुंभ,बाघों की मौतों के मामले,प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रेजेंटेशन के अलावा सिंचाई परियोजनाओं को लेकर चर्चाएं हुईं। बैठक मे शिवराज केबिनेट ने कई महत्तवपूर्व एजेंडों को प्रशासकीय स्वीकृति दी है। मध्यप्रदेश में लगातार हो रही बाघों की मौत की सरकार जांच कराएगी। इसके साथ ही जांच रिपोर्ट वेबसाइट पर डाली जाएगी। गुरुवार को भोपाल में हुई शिवराज कैबिनेट की बैठक में सरकार ने जांच कराने का फैसला किया है। वहीं, इसके साथ ही ग्रामोदय से भारत उदय अभियान में जिलों के प्रभारी मंत्री को अगले कैबिनेट की बैठक में रिपोर्ट लेकर आने को कहा गया है। कैबिनेट ने प्रदेश में 2000 उप-स्वास्थ्य केंद्र खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इसमें आचार संहिता के चलते बैतूल को शामिल नहीं किया गया है। बैठक में जानवरों से जनहानि पर 4 लाख का मुआवजा देने का फैसला हुआ है। कैबिनेट ने राज्य भूमि सुधार आयोग के लिए 17 पद मंजूर किए हैं साथ ही आयोग के लिए डेढ़ करोड़ के सालाना बजट को भी मंजूरी दी गई है। कैबिनेट ने होशंगाबाद में कृषि महाविद्यालय को 50 एकड़ जमीन देने के प्रस्ताव पर भी मुहर लगा दी है। महाविद्यालय में 2016-17 से सेशन शुरू करने का फैसला किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए 11 चिन्हित कंपनियां टेंडर में शामिल होंगी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए एमपी में निजी बीमा कंपनी बनाए जाने के लिए वित्त मंत्री की अध्यक्षता में मंत्रियों की कमेटी बनेगी जो 31 मई तक रिपोर्ट देगी। वहीं कैबिनेट ने फैसला लिया है कि देवास के उद्योगों को नर्मदा क्षिप्रा लिंक परियोजना से पानी मिलेगा।

Trending News

Related News