News

MOVIE REVIEW: फोबिया

Created at - May 27, 2016, 5:05 pm
Modified at - May 27, 2016, 5:05 pm

फिल्म का नाम: फोबिया
निर्माता: सुनील लुल्ला,विक्की रजानी
निर्देशक: पवन कृपलानी
कलाकार: राधिका आप्टे

फिल्म 'फोबिया' साइकोलॉजिकल थ्रिलर फिल्म है। जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि यह मस्तिष्क के अंदर के डर पर आधारिक फिल्म हैं। हालांकि भारत में इस तरह की फिल्में नहीं के बराबर आती हैं। इस फिल्म के निर्देशक पवन कृपलानी 'डर एट मॉल' और 'रागिनी एमएमएस' जैसी हॉरर फिल्में भी बना चुके हैं।

कहानीः

इस फिल्म की कहानी पेंटर महक (राधिका आप्टे) की है। कहानी की शुरूआत वहां से होती है जब महक पार्टी से देर रात लौटती है। इसी दौरान एक टैक्सी ड्राईवर उसके साथ रेप का प्रयास करता है। हालांकि वह अपने को बचा लेती है लेकिन की एगोराफोबिया का शिकार हो जाती है। इस मानसिक बीमारी के कारण उसे घर से बाहर निकलने में डर लगता है। इस दौरान कई घटनाएं होती हैं।

स्क्रिप्टः
फिल्म का विषय बहुत ही अलग है। कहानी को वर्तमान के साथ-साथ फ्लैशबैक में हुई बातों की अच्छे से जोड़ा गया है। जो कहानी को रोचक बनाता है।
 
अभिनय:

राधिका आप्टे मानसिक रोगी के किरदार में पूरी तरह से खरी उतरी हैं। फिल्म में वो बिना मेकअप के नज़र आई हैं। सत्यदेव मिश्रा और फ़िल्म के अन्य पात्र ने भी अच्छी भूमिका निभाई है।


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News