News

मिस्त्री का आरोप- 'TCS को बेचना चाहते थे रतन टाटा'

Last Modified - November 23, 2016, 5:22 pm

मुंबई। टाटा सन्स के बर्खास्त चेयरमैन साइरस मिस्त्री ने रतन टाटा पर कई आरोप लगाए हैं। उन्होंने एक बयान जारी कर कहा कि टीसीएस और जेएलआर की सफलता में उनके योगदान नहीं करने का आरोप को निराधार बताया।

मिस्त्री ने समूह के प्रमुख रतन टाटा पर आरोप लगाया कि उन्होंने आईटी कंपनी को आईबीएम को बेचने का प्रयास किया था। उन्होंने कहा कि रतन टाटा ने अपने 'अहंकार' में कोरस जैसे खराब कारोबारी फैसले लिए। मिस्त्री ने पांच पेज की चिट्ठी भी जारी की है।

साइरस मिस्त्री के दफ्तर से जारी चिट्ठी में कहा गया है 'लोगों के बीच इस तरह का माहौल बनाया जा रहा है कि मिस्त्री कठपुतली चेयरमैन थे और उनके नेतृत्व के दौरान टीसीएस और जेएलआर को कोई और चला रहा था।' इसमें आगे कहा गया है कि 'एक वक्त अंतरिम चेयरमैन रतन टाटा ने समूह की सबसे महत्वपूर्ण कंपनी टीसीएस को आईबीएम को बेचने का मन बना लिया था।' पत्र में कहा गया है कि तत्कालीन प्रमुख एफसी कोहली की बीमारी की वजह से जेआरडी टाटा, रतन टाटा के प्रस्ताव को आगे नहीं बढ़ा पाए थे।


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News