News

मूवी रिव्यू: 'रनिंग शादी'

Last Modified - March 28, 2017, 2:43 pm

फिल्म: रनिंग शादी
डायरेक्टर: अमित रॉय
स्टार कास्ट: अमित साध, तापसी पन्नू, अर्श बाजवा

 

फिल्म की कहानी भागकर शादी करने में प्रेमी जोड़ों की मदद करने की है. विषय सुनने में दिलचस्प लगता है, पर खराब ट्रीटमेंट और कमजोर कहानी की वजह से फिल्म भटक गई है। फिल्म की लीड अभिनेत्री तापसी पन्नू की पिछली फिल्म 'पिंक' के बाद उनसे उम्मीदें बढ़ गई थीं, लेकिन इस फिल्म में वह उन उम्मीदों पर खरी नहीं उतरतीं।

कहानी पंजाब के अमृतसर में बेस्ड है, जहां एक गहने की दूकान के मालिक की बेटी निम्रत कौर उर्फ निम्मी (तापसी पन्नू) और उसी दुकान में काम करने वाले राम भरोसे (अमित साध) रहते हैं. बिहार का रहने वाला राम भरोसे मन ही मन निम्मी को काफी पसंद करता है लेकिन उससे कह नहीं पाता.

राम भरोसे, निम्मी के पिताजी की दुकान का काम छोड़कर और अपने दोस्त सरबजीत उर्फ सायबरजीत (अर्श बाजवा) की मदद से भाग कर शादी करने वाले युवक और युवतियों के लिए रनिंग शादी नामक वेबसाइट बनाता है और 49 कपल्स की शादी भी करा देता है.

लेकिन कहानी में मोड़ तब आता है जब निम्मी अपने ब्वॉयफ्रेंड से शादी करने के लिए राम भरोसे की सहायता से भागती तो है लेकिन राम भरोसे ही इस चक्कर में फंस जाता है. अब निम्मी का खानदान, राम भरोसे और निम्मी को ढूंढने में लग जाता है. कहानी पंजाब से डलहौजी, पटना होते हुए आखिरकार अमृतसर में ही खत्म होती है.

फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी कहानी है, जिसे और भी टाइट करने की जरूरत थी.फिल्म के नाम से डॉट कॉम को निकाला जा चूका है, जिसकी वजह से पूरी फिल्म में जहां जहां डॉट कॉम आता है, कभी वो धुंधला किया गया है और कहीं-कहीं - संवादों को म्यूट रखा गया है, जो कि देखते वक्त बहुत डिस्टर्ब करता है.फिल्म में पंजाबी भाषा का ज्यादा प्रयोग हुआ है.

फिल्म रिलीज से पहले कोई ऐसा गाना भी नहीं रिलीज किया गया जो फिल्म के लिए हलचल मचा सका हो.किरदारों को और मजबूत लिखा जा सकता था क्योंकि जहां निम्मी पार्टी करती है, दुकान से कंडोम खरीदती है, पूरे टाइम राम भरोसे और उसके दोस्त के साथ घूमती है. उसके घर में अचानक से बहुत सारे नियम कानूनों का लग जाना, काफी अजीब लगता है. मॉडर्न होते हुए भी पाबंदियां दिखाई गई हैं.

Trending News

Related News