News

बाबा महाकाल की भादों मास की सवारी

Created at - January 7, 2017, 5:24 pm
Modified at - January 7, 2017, 5:24 pm

भादों मास के सोमवार पर परंपरा के मुताबिक उज्जैन में बाबा महाकाल की सवारी निकाली गई। भगवान महाकाल राजसी ठाठ बाट के साथ नगर भ्रमण पर निकले। बाबा की एक झलक पाने के लिए लोगो का हुजूम सडको पर देखा गया। बाबा महाकाल की सवारी में प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शामिल हुई और बाबा की भक्ति में लीन दिखाई दी। उज्जैन में सावन - भादो माह में महाकाल की सवारी निकालने की परम्परा है। महाकालेश्वर मंदिर से शाम 4 बजे शुरू हुई बाबा की सवारी नगर के प्रमुख मार्गो से होती हुई शिप्रा नदी पहुची। शिप्रा नदी के राम घाट पर जल अभिषेक के बाद सवारी पुनः महाकाल मंदिर के लिए रवाना हुई। मान्यता हे की भगवान महाकाल सवारी के रूप में अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलते हे। वहीँ अपने राजा की एक झलक पाने के लिए प्रजा भी घंटो तक सडक के किनारे इंतजार करती हे। शाम को पूजन के बाद राजा महाकाल को चाँदी की पालकी में बैठाकर मंदिर से बाहर लाया गया। मंदिर से निकलते ही पुलिस बैंड औऱ जवानो के द्वारा सवारी को गार्ड आफ ओनर दिया गया । सवारी के आगे घोडा , बेंड , पुलिस टुकड़ी तथा भजन मंडलियाँ चल रही थी। बाबा की सवारी में प्रदेश सरकार की धर्मस्व मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शामिल हुई और नंगे पैर सवारी में चली।

बाबा महाकाल की सवारी में प्रदेश सरकार की मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शामिल हुई और बाबा की भक्ति में लीन दिखाई दी। उज्जैन में सावन - भादो माह में महाकाल की सवारी निकालने की परम्परा है। महाकालेश्वर मंदिर से शाम 4 बजे शुरू हुई बाबा की सवारी नगर के प्रमुख मार्गो से होती हुई शिप्रा नदी पहुची। शिप्रा नदी के राम घाट पर जल अभिषेक के बाद सवारी पुनः महाकाल मंदिर के लिए रवाना हुई। मान्यता हे की भगवान महाकाल सवारी के रूप में अपनी प्रजा का हाल जानने के लिए नगर भ्रमण पर निकलते हे। वहीँ अपने राजा की एक झलक पाने के लिए प्रजा भी घंटो तक सडक के किनारे इंतजार करती हे। शाम को पूजन के बाद राजा महाकाल को चाँदी की पालकी में बैठाकर मंदिर से बाहर लाया गया। मंदिर से निकलते ही पुलिस बैंड औऱ जवानो के द्वारा सवारी को गार्ड आफ ओनर दिया गया । सवारी के आगे घोडा , बेंड , पुलिस टुकड़ी तथा भजन मंडलियाँ चल रही थी। बाबा की सवारी में प्रदेश सरकार की धर्मस्व मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया शामिल हुई और नंगे पैर सवारी में चली।


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News