News

मूवी रिव्यू: फिल्म 'अनारकली ऑफ आरा'

Last Modified - March 28, 2017, 2:38 pm

स्टारकास्ट- पंकज मिश्रा, संजय मिश्रा, स्वरा भास्कर
डायरेक्टर- अविनाश दास


फिल्म की कहानी, बिहार के आरा जिले में एक छोटे से मोहल्ले में रहने वाली लोक गायिका और डांसर अनारकली ने बचपन से ही अपनी मां को स्टेज पर गाते और डांस करते देखा। स्टेज पर मैरिज फंक्शन के दौरान एक हादसे में अनाकली की मां मारी जाती है। अनार जब बड़ी होती है तो रंगीला के ऑर्केस्ट्रा ग्रुप में शामिल हो जाती है। अनारकली इस ग्रुप की नंबर वन टॉप सिंगर, डांसर है।


रंगीला के ग्रुप के साथ अनारकली स्टेज पर जब ठुमके लगाते परफॉर्म करती है तो स्टेज पर नोटों की बारिश सी हो जाती है। इसी बीच एक दिन पुलिस थाने में हो रहे फंक्शन के दौरान यहां चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे आरा के एक विश्वविधालय के वीसी और स्टेट के चीफ मिनिस्टर के खास माने जानेवाले धर्मेन्द्र चौहान का दिल अनारकली पर आ जाता है।

चौहान स्टेज पर पब्लिक के सामने ही अनारकली के साथ अश्लील हरकतें शुरू कर देते हैं। थाना परिसर में हो रहे इस फंक्शन में चौहान की अश्लील हरकतें जब हद से ज्यादा बढ़ जाती हैं तो अनार उसे सबके सामने एक तमाचा लगाती है। इस थाने का एसएचओ बुलबुल पांडे (विजय कुमार) चौहान का खास है, स्टेज पर पब्लिक के बीच एक नाचने वाली से तमाचा खाने के बाद चौहान अब किसी भी कीमत पर अनारकली को हासिल करना चाहता है। ऐसे हालात में अनारकली एक दिन चौहान और लोकल पुलिस से बचकर दिल्ली आ जाती है।

Trending News

Related News