भोपाल News

मध्यप्रदेश में अब पुरोहित बनने के लिए मिलेगी ट्रेनिंग, डिप्लोमा कर कोई भी बन सकेगा पुरोहित

Created at - April 7, 2017, 10:32 pm
Modified at - April 7, 2017, 10:32 pm

 

दलितों को पुरोहित बनाने के विवाद के बाद मध्य प्रदेश में पुरोहितगिरी को लेकर एक बार फिर नए सिरे से विवाद खड़ा हो गया है. इस बार ये कारण बना है महर्षि पतंजलि संस्थान संस्थान के नए डिप्लोमा कोर्स को लेकर. जिसमें पुरोहितम कोर्स सिर्फ ब्राहम्णों के लिए आरक्षित करने की मांग को लेकर ब्राहम्णों ने मोर्चा खोल दिया है.

महर्षि पतंलति संस्कृत संस्थान अब ज्योतिष, वास्तुशास्त्र और पुरोहितम के तीन नए डिप्लोमा कोर्स शुरू करने जा रहा है. प्रदेश सरकार से बोर्ड स्तर की मान्यता प्राप्त इस संस्थान ने तीनों डिप्लोमा कोर्स शुरू करने के लिए आदेश जारी कर दिए हैं. संस्कृत संस्थान ज्योतिष,

वास्तुशास्त्र के साथ पुरोहितम का डिप्लोमा कोर्स कराएगा. जिसके तहत हर कोर्स के लिए 3030 सीटें रहेंगी. इसमें प्रवेश के लिए जाति की कोई बाध्यता नहीं रखी गई है. यानी किसी भी धर्म या जाति का दसवीं पास छात्र एडमिशन के लिए आवेदन कर सकता है और तीनों नए कोर्स इसी शिक्षण सत्र से लागू होने जा रहे हैं.

संस्कृत संस्थान के पुरोहित कोर्स में एडमिशन को लेकर हिंदू संगठन और ब्राहम्णों ने मोर्चा खोल दिया है. ब्राहम्णों का कहना है कि ये सरकार की वही बीच में अटक चुके षयडंत्र को आगे बढ़ाने कि कोशिश है. जिसमें दलितों को पुरोहित बनाने का ऐलान किया गया था.

ब्राहम्णों ने साफ तौर पर कहा है कि पुरोहित डिप्लोमा कोर्स में अकेले ब्राहम्ण छात्रों को ही एडमिशन दिया जाए.यदि ऐसा नहीं हुआ तो ब्राहम्ण साधु-संतों के साथ फिर सड़कों पर उरतने को मजबूर होंगे. हालांकि इस संबंध संस्कृत संस्थान की दलील है कि ये विषय एजुकेशन पर आधारित है.

इसलिए इसमें प्रवेश के लिए किसी को धर्म या जाति के आधार पर नहीं रोका जा सकता.
नए कोर्स शुरू करने का ऐलान कर चुका संस्थान जल्द इस एडमिशन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है और संस्कृत संस्थान के खिलाफ मोर्चा खोल चुके ब्राहम्ण अपने विरोध पर अडिग हैं. ब्राहम्णों की मांग है कि अब सरकार बीच में आकर उनकी सुनवाई करे.


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News