रायपुर News

छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में रहने वाली सबा का तीरंदाजी के लिए रैंकिंग टेस्ट में हुआ चयन

 

हाथ में हुनर हो तो व्यक्ति सफलता के नए कीर्तीमान रच सकता है. छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिला के खपरी गांव की रहने वाली सबा तबस्सुम ने तीरंदाजी में अपना लोहा मनवाया है. ग्रामीण परिवेश में रहते हुए और कम संसाधन के बीच लगन और कड़ी मेहनत से उन्होने.

तीरंदाजी के लिए 19 अप्रैल से आयोजित होने वाले रैंकिंग टेस्ट में चयनित होकर प्रदेश का गौरव बढ़ाया है. सबा का अब एक ही लक्ष्य है.देश के लिए मेडल लाना. सबा ने तीरंदाजी का हुनर अपने पिता से विरासत में पाया है. सबा के पिता खलील खान जिला खेल अधिकारी हैं. सबा ने चार अखिल भारतीय तीरंदाजी विश्वविद्यालय प्रतियोगिता, सात राष्ट्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता के साथ 14 राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में अपना जौहर दिखाया है.

Trending News

Related News