भोपाल News

मध्यप्रदेश में यूपी की तर्ज पर विधानसभा चुनाव लड़ेगी भाजपा, पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेंस बनेगा आधार

Last Modified - April 17, 2017, 8:18 am

भाजपा मध्यप्रदेश में भी उत्तरप्रदेश की तर्ज पर विधानसभा चुनाव लड़ने की योजना बना रही है। इसका आधार पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेस के एजेंडे को आगे बढ़ाना है। इस फॉर्मूले के तहत प्रत्येक सांसद को विधानसभा चुनाव में 70 फीसदी से ज्यादा रिजल्ट देना होगा। मध्यप्रदेश के नजरिए से देखें, तो हर सांसद को अपने क्षेत्र की कम से कम आधा दर्जन सीटों पर जीत दर्ज करानी होगी। सांसदों का यही परफॉर्मेंस लोकसभा चुनाव के दौरान उनके टिकट का भी मजबूत आधार भी बनेगा।

भारतीय जनता पार्टी के लिए उत्तर प्रदेश में हुई धमाकेदार जीत पार्टी कार्यकर्ताओं के पाठ्यक्रम का काम कर रही है। यही वजह है कि बीजेपी यूपी की तर्ज पर अब प्रदेश में भी विधानसभा चुनाव की तैयारी कर रही है। इसके तहत पार्टी ने जो फार्मूला तैयार किया है, उसके मुताबिक हर सांसद को अपने लोकसभा क्षेत्र की कम से कम 6 सीटों पर जीत दर्ज करानी होगी।

यूपी में मिली हार के बाद कांग्रेस मध्यप्रदेश में सरकार के खिलाफ एंटी इंकम्बेंसी को भुनाने की कोशिश में है। उसे लगता है एमपी में इस तरह किसी फार्मूले से असर नहीं पड़ेगा। भाजपा के इसी फॉर्मूले ने यूपी में जीत का रास्ता तय किया। यही वजह है कि सांसदों की बैठक लेकर पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी सांसदों से अपने-अपने क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा समय देने को कहा। पॉलिटिक्स ऑफ परफॉर्मेस के इस फॉर्मूले के दम पर भाजपा मध्यप्रदेश में चौथी पारी की उम्मीद में है।

Trending News

Related News