ग्वालियर News

ग्वालियर: प्रदेश के अस्पतालों में नर्सों के पचास फीसदी पद खाली, भर्ती की कोई पहल नहीं

Last Modified - April 18, 2017, 9:26 pm

मध्यप्रदेश के अस्पतालों को नर्सों की भारी कमी से जूझना पड़ रहा है..। सरकारी अस्पतालों में नर्सों के पचास फीसदी पद खाली पड़े हैं..। इसकी वजह से जहां मरीजों की सही देखभाल नहीं हो पा रही है..। वहीं, अस्पताल में मौजूद नर्सिंग स्टाफ पर अतिरिक्त कार्य का बोझ पड़ रहा है..। इसके चलते उन्हें कई घंटे अस्पताल में ड्यूटी करनी पड़ रही है..। इन सबके बावजूद सरकार नर्सों की भर्ती के लिए कोई पहल नहीं कर रही है। आलम ये है कि ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में जहां 1500 से ज्यादा नर्से की जरूरत है.. वहां केवल 250 नर्से मौजूद है।

नियमों के मुताबिक तीन मरीजों पर एक नर्स होनी चाहिए.. पर स्टाफ की कमी के चलते ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में करीब सौ मरीजों की देखभाल का जिम्मा केवल तीन नर्स पर है..। नर्सेस की कमी को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले में सूबे के स्वास्थ्य विभाग से नर्सेस की मांग भी की है..। बता दें कि प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में 10 हजार नर्सेस की जरूरत है..। ऐसे में मध्यप्रदेश नर्सेस एसोसिएशन ने सरकार को चेतावनी दी है कि सरकार नर्सेस के रिक्त पद पूर्ण करें। नही तो वो आगमी दिनों में काम बंद कर देंगी...।

Trending News

Related News