भोपाल News

अंतर्राज्यीय चैकपोस्ट पर उगाही कर रहे स्थानीय दबंग, सरकार को हो रहा करोड़ों का नुकसान

मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की सीमा में शासन ने अंतर्राज्यीय एकीकृत चैकपोस्ट की स्थापना इस उद्वेश्य से कि है कि आधुनिक तरीके से एक स्थान पर शासन के कई विभाग वाहनों से टैक्स की वसूली कर सकें। लेकिन बालाघाट से महज 24 किलोमीटर दुर स्थित एकीकृत चैकपोस्ट में लाखों रूपए का राजस्व चोरी कराने का काम स्थानीय दबंग लोग कर रहे है। जिसके खिलाफ कई बार शिकायते भी हुई लेकिन मारपीट और हमले की आंशका से प्रशासन भी इनकी ताकत के सामने बौना साबित हो रहा है।

लगता है कि दंबगो के आगे प्रशासन और ग्रामीण मानो लाचार हो गये है। शिकायत की हिम्मत भी ग्रामीण इसलिये नही जुटा पाते कि दंबग अक्सर गांव में आकर मारपीट करते है। टैक्स चोरी का कारोबार इतना बड़ गया है कि दिन हो या रात वाहनों से 100-200 रूपए वसूलकर अनाधिकृत तरीके से प्रधानमंत्री सड़क और नहर को तोड़कर वैकल्पिक मार्ग से वाहनों को गुजार दिया जाता है। ग्रामीणों के अनुसार रात में ये दबंग सीमेंट, लोहे और ऐसा सामना जिसमें मध्यप्रदेश शासन और परिवहन विभाग, सेलटैक्स विभाग में टैक्स देना होता है उसको बचाकर ये दबंग सालों से अपना कारोबार कर रहे है।
रात में हमले की आशंका के चलते हमारी टीम ने इस गोरखधंधे को उजागर करने के लिए दिन में उस 5 किलोमीटर लंबे वैकल्पिक मार्ग का दौरा किया और पाया कि दिन में भी कई ऐसे वाहन इन दबंगों के आर्शिवाद से टैक्स की चोरी करने के साथ अंतर्राज्जीय सीमा से निकलने का प्रयास कर रहे थे।

इस पुरे मामले में जब हमने एकीकृत अंतर्राज्जीय जाॅच चैकी में परिवहन अधिकारियों व सेलटैक्स के अफसरों से इस मामले में जानकारी चाही तो सबका यह कहना था कि लंबे समय से शासन को लाखों रूपए का राजस्व का नुकसान वैकल्पिक मार्ग बनाये जाने के बाद वाहनों के निकल जाने से हो रहा है। बावजूद इसके स्थानीय प्रशासन से इसे रोकने के लिए मदद भी मांगी गई लेकिन सफलता आशानुकूलित नही मिली।

करोड़ों की लागत से स्थापित बालाघाट रजेगांव मार्ग में एकीकृत जाॅच चैकी कम राजस्व की प्राप्ति की चलते सफेद हाथी साबित हो रहा है अर्थात अमदनी अठ्ठनी और खर्चा रूपईया लेकिन यहां सबकुछ तब ठीक हो पायेगा जब दंबगो के इस अवैध कारोबार को जिला प्रशासन नकेल कसे साथ ही प्रधानमंत्री ग्राम सड़क और नहर के दोनों और स्थाई अवरोध को लगाकर वैकल्पिक मार्ग को बंद करें।

Trending News

Related News