भोपाल News

छिंदवाड़ा के बारगी अग्निकांड में बड़ा खुलासा, दूसरा दरवाजा नहीं खुलने के कारण गई 13 जानें

Last Modified - April 22, 2017, 7:08 pm

छिंदवाड़ा के हर्रई सहकारी केंद्र में अग्निकांड पर बड़ा खुलासा हुआ है. IBC24 की टीम ने मौके की पड़ताल की तो पता चला की सहकारी बिल्डिंग में इंट्री और एक्सिट के लिए दो अलग अलग दरवाजे थे लेकिन दूसरे दरवाजे को अनाज की बोरियों से ढंक दिया गया. जिसके कारण आग लगने पर कई लोग उस बिल्डिंग में फंस गए और  उनकी मौत हो गई.

आपको बता दें हर्रई के बारगी गांव में आग के तांडव से 13 लोगों की जलकर मौत हो गई. जबकि 2 लोग अब भी लापता हैं. इधर सरकार ने मृतकों के परिजनों के लिए 5-5 लाख और गंभीर रूप से झुलसे लोगों को 50-50 हजार रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया. साथ ही मामले की हर स्तर पर जांच के आदेश दिए है. इस घटना पर पीएम मोदी से लेकर सीएम शिवराज सिंह, सांसद कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया और छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह समेत कई नेताओं ने दुख जताया है.


चीख, चित्कार, रुदन और अफरा तफरी की ये तस्वीरें छिंदवाड़ा जिले के हर्रई क्षेत्र के बारगी गांव की है. जहां गांव के सहकारी समिति केन्द्र पर आग ने ऐसा तांडव मचाया. कि देखते ही देखते कई जिंदगी जलकर खाक हो गई. दरअसल शुक्रवार को यहां अनाज और कैरोसीन वितरण किया जा रहा था. जिसे लेने के लिए काफी संख्या में ग्रामीण यहां पहुंचे थे जो धूप से बचने के लिए सोसायटी के कमरे में खड़े थे. और अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे.

इसी कमरे में अनाज और कैरोसिन से भरे करीब 8 से 10 ड्रम भी रखे थे. ऐसी आशंका है. कि किसी ने बीड़ी जलाने के लिए माचिस की तीली जलाई और उसी की चिंगारी से कैरोसिन ने आग पकड़ ली. देखते ही देखते आग ने भीषण रूप ले लिया और कमरे में मौजूद लोग आग से घिर गए. कमरे में एक ही दरवाजा होने के कारण कई लोग बाहर नहीं निकल पाए और जिंदा जल गए. जिसमें दुकान संचालक राकेश कहार भी शामिल है.

मौके पर पहुंची प्रशासन की टीम ने स्थानीय ग्रामीणों की मदद से बचाव और राहत कार्य शुरू किया. क्रेन की मदद से लाशें बाहर निकाली गई. गंभीर रूप से झुलसे 3 लोगों को हर्रई के अस्पताल में भर्ती कराया गया. इधर सीएम शिवराज सिंह ने घटना पर दुख जताया और मृतक के परिजनों को 5-5 लाख और गंभीर रूप से झुलसे लोगों को 50-50 हजार रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया.

साथ ही जबलपुर कमीश्नर से जांच कराने की बात कही. इधर मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने घटना की न्यायिक जांच का ऐलान किया. वहीं खाद्य मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने भी जांच की बात कहते हुए कहा है. कि इस मामले में किसी की लापरवाही हुई तो उन पर कार्रवाई होगी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया और घायल लोगों के जल्द स्वास्थ्य होने की कामना की. वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह, छिंदवाड़ा सांसद कमलनाथ और गुना सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी ट्वीट कर इस घटना पर दुख जताया.

Trending News

Related News