रायपुर News

CRPF पर हमले के पीछे हिड़मा नक्सली ग्रुप का हाथ होने की आशंका

Last Modified - April 25, 2017, 1:38 pm


इतने बड़े नक्सली हमले के पीछे CRPF को हिड़मा नक्सली ग्रुप का हाथ होने की आशंका है आईए आपको बताते हैं कि आखिर हिड़मा ग्रुप है क्या आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इस वक्त नक्सलियों के साउथ बस्तर बटालियन की कमान SZC हिड़मा के हाथों में है. जिसका पूरा नाम हिड़मा और उपनाम माडवी हिड़मा उर्फ इदमुल उर्फ पोडियाम भीमा है. इसके पिता का नाम पोडियाम सोमा उर्फ दुग्गावडे जबकि मां का नाम पोडियाम भीमे है.

हिड़मा सुकमा जिले के जगरगुंडा इलाके के पूवर्ती स्कूलपारा का रहने वाला है. 8वीं तक पढ़ने वाले हिड़मा ने दो शादियां की हैं जिसमें से पहली पत्नी बडेशेट्टी अब उसके साथ नहीं है जबकि दूसरी पत्नी राजे उर्फ राजक्का हिड़मा के साथ बटालियन में ही है. हिड़मा के तीन भाई है. इनमे माडवी देवा और माडवी दुल्ला गांव में ही खेती किसानी करते हैं जबकि माडवी नंदा पूवर्ती में रहकर नक्सलियों को पढ़ाता है. इसकी एक बहन भीमे दोरनापाल में रहती है.

वहीं, हिड़मा के ताऊ का बेटा दारा कोसा आंध्र पुलिस के सामने सरेंडर कर चुका है और अब राइस मिल चला रहा है...दारा ने विज्यन्ना की छोटी बहन यानि हिड़मा की मौसी से शादी की है. आपको बता दें कि हिड़मा जीरम और ताड़मेटला में 107 लोगों की हत्या से देश को दहलाने वाले देश के सबसे बड़े नक्सली हमले का भी मास्टरमाइंड है...सुरक्षा बल उसे मारने के लिए पिछले 5 साल से अभियान चला रहे हैं लेकिन हर बार नाकामी ही हाथ लगी.

Trending News

Related News