News

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति को दुष्कर्म के मामले में मिली जमानत


अखिलेश यादव सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति को दुष्कर्म के मामले में जमानत मिल गई है। गायत्री के साथ दो अन्य को पाक्सो कोर्ट ने जमानत दी है। गायत्री प्रजापति और उनके दो साथी पिंटू और विकास को ज़मानत मिली, पास्को कोर्ट से ज़मानत मिली।

गायत्री प्रसाद प्रजापति ,पिंटू और विकास वर्मा को मिली जमानत। पाक्सो कोर्ट ने छेड़ छाड़ ,जान से मारने की धमकी देने के मामले में कोर्ट ने ज़मानत मंजूर की ।एक-एक लाख के दो निजी मुचलके पर दी जमानत। गायत्री प्रजापति की जमानत याचिका पर आज सुनवाई थी। लखनऊ जिला न्यायालय के स्पेशल जज ओपी मिश्रा ने ये फैसला सुनाया है। गायत्री के खिलाफ लखनऊ के गौतमपल्ली थाने में बलात्कार और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है।

उधर एक दिन पहले ही सोमवार को इसी मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में स्टेटस रिपोर्ट दाखिल की। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि इस मामले में पूर्व मंत्री समेत बाकी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की जांच चल रही है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट को मामले की सुनवाई बंद कर देनी चाहिए। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश से कहा है कि स्टेटस रिपोर्ट की कॉपी पीड़िता को भी दी जाए।

अखिलेश यादव सरकार में खनन मंत्री रहे गायत्री प्रसाद प्रजापति महिला के साथ गैंगरेप और महिला की बेटी से छेड़छाड़ के आरोपों के कारण लखनऊ जेल में बंद हैं। इस मामले में आज पाक्सो कोर्ट में सुनवाई थी। गायत्री प्रजापति पर उसी महिला की नाबालिग बच्ची के साथ छेड़छाड़ के भी आरोप हैं।

Trending News

Related News