News

बुरकापाल नक्सली हमले में नहीं था नक्सल कमांडर हिड़मा का हाथ - DG डीएम अवस्थी

Last Modified - April 27, 2017, 8:48 am

सुकमा के बुरकापाल में हुए नक्सली हमले में कमांडर हिड़मा शामिल नहीं था, बल्कि इसे नक्सली कमांडर सोनू, अर्जुन और सीतू की टीम ने घटना को अंजाम दिया है। जिन्हें हिड़मा ने ट्रेनिंग देकर तैयार किया है। तीनों की अलग-अलग टुकड़ियों ने ही CRPF के जवानों को अपना निशाना बनाकर अंधाधुंध फायरिंग की थी। ये बातें नक्सल ऑपरेशन के DG डीएम अवस्थी ने कही हैं। उन्होंने इंटेलीजेंस फेल होने की बात से साफ इनकार करते हुए ये भी कहा कि जिला पुलिस और CRPF के बीच किसी तरह की तालमेल की कमी नहीं है।

उन्होंने ये भी कहा कि नक्सलियों के खिलाफ अब आक्रामक सुरक्षा की रणनीति अपनाई जाएगी। साथ ही सुरक्षा तंत्र को लेकर उठाए गए सारे सवालों को उन्होंने खारिज करते हुए कहा कि हमारे पास सारी सूचनाएं आती हैं... और तालमेल के संबंध में कहा कि जवानों का जवानों से तालमेल होता है और अफसरों का अफसरों से। स्टेट और सेंट्रल फोर्से में पर्याप्त कोर्डिनेशन है और साथ मिलकर ही बड़े ज्वाइंट ऑपरेशन चलाए जाते हैं।

Trending News

Related News