रायपुर News

छत्तीसगढ़ विधानसभा में सुकमा हमले में CRPF के 25 जवानों की शहादत के मामले पर हुआ जमकर हंगामा

Last Modified - April 29, 2017, 12:19 pm

छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में CRPF के 25 जवानों की शहादत के मामले में शुक्रवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ। विपक्ष ने सरकार पर आरोपों के जमकर तीर चलाए और तमाम मंत्री, विधायक सरकार के बचाव में उतर गए। आखिर में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए कहा कि नक्सली बस्तर में अंधेरा चाहते हैं।

वे नहीं चाहते हैं कि वहां विकास का उजाला हो। उन्होंने कहा कि नक्सली बस्तर को बंधक बनाने की साजिश कर रहे हैं और मानव अधिकार कार्यकर्ता समेत नक्सलियों के हितचिंतक इसमें उनकी मदद कर रहे हैं। मुख्यमंत्री से जब सुरक्षा बलों को फ्रीहैंड देने को लेकर सवाल हुए, तो उन्होंने कहा कि फोर्स की भी अपनी लिमिटेशन है। साथ ही उन्होंने मानव अधिकार कार्यकर्ताओं को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि इतनी बड़ी नक्सली घटना के बाद किसी की आंख से एक आंसू तक नहीं निकले। मुख्यमंत्री ने सदन में विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए ये भी कहा कि नक्सलियों से बातचीत का रास्ता कभी बंद नहीं हुआ। लेकिन नक्सलियों को छांटकर मारा जाएगा। वहीं विपक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार खुद नक्सलियों के मामले में दोमुंही नीति अपनाए हुए है और सरकार खुद उन्हें बढ़ावा दे रही है।

Trending News

Related News