News

बुरे फंसे केजरीवाल, कपिल मिश्रा ने ACB को सौंपा टैंकर घोटाले से जुड़े कागजात

 

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ रुपये लेने का आरोप लगाने वाले पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा मामले की शिकायत सीबीआई से करेंगे। इससे पहले उन्होंने एसीबी के दफ्तर जाकर टैंकर घोटाले से जुड़े कागजात सौंपे।

एसीबी दफ्तर से निकलने के बाद उन्होंने कहा कि 2 करोड़ रुपये मामले में उनका, सत्येंद्र जैन और अरविंद केजरीवाल का लाइ डिटेक्टर टेस्ट हो। अपनी ही पार्टी के सरकार पर घोटाले की रिपोर्ट को दबाने का आरोप लगाने के साथ ही कपिल ने कहा कि वह सरकारी गवाह बनेंगे।

उन्होंने दावा किया कि 2 साल पहले टैंकर घोटाले की रिपोर्ट सरकार को सौंप दी गई थी, लेकिन इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। कपिल ने दावा किया टैंकर घोटाले में केजरीवाल सरकार ने पूर्व सीएम शीला दीक्षित को बचाने की कोशिश की जिसके सबूत उन्होंने ACB को दिए हैं। कपिल केजरीवाल के सहयोगी आशीष तलवार और विभव पटेल का नाम भी एसीबी के सामने लिया।

उन्होंने कहा, 'टैंकर घोटाले में अरविंद केजरीवाल और उनके दो साथियों आशीष तलवार और विभव कुमार ने जांच को प्रभावित किया। शीला दीक्षित को बचाने की कोशिश की गई। मैंने शुरुआती दस्तावेज दे दिए हैं। मैं सरकारी गवाह बनने को भी तैयार हूं। मामले में जो भी जानकारी मेरे पास है, उसे ACB को दूंगा। कुछ समय बाद एसीबी मुझे फिर बुलाएगी।'

इससे पहले रविवार को मिश्रा ने यह भी दावा किया कि आप के कुछ सदस्यों ने उन्हें कहा है कि केजरीवाल ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को बुधवार को बर्खास्त करने का मन बना लिया है। उन्होंने अगस्त 2015 में उनके द्वारा शीला दीक्षित के मुख्यमंत्री काल में कथित तौर पर हुए 400 करोड़ रपये के टैंकर घोटाले पर उनके द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट पर निष्क्रियता को लेकर सवाल उठाए।

Trending News

Related News