News

आपकी छोटी सी लापरवाही ..और आपका स्मार्टफोन हो सकता है हैक

Last Modified - May 9, 2017, 4:22 pm

इंटरनेट के युग में हैकर्स से पूरी दुनिया परेशान है. हैकर्स ने अब मोबाइल को टारगेट किया है. हैकर्स साइबर स्टोकिंग के जरिए मोबाइल हैक कर रहे हैं. और आपकी गोपनीय जानकारी भी चुरा रहे हैं. हैकर्स आपके मोबाइल को सिर्फ 30 सेकंड में हैक कर ना केवल आपके बारे में सब कुछ पता कर सकते हैं. बल्कि आपकी लाइव जासूसी भी कर सकते हैं. इतना ही नहीं सेल्फी कैमरे के जरिए आपके निजी पलों के वीडियो भी बना सकते हैं. सिर्फ एक SMS से ये सब कुछ संभव है.

इस तरह से फोन हैक करने वालों को साइबर स्टोकिंग कहा जाता है. आइए आपको बताते है. कैसे हैक होते है मोबाइल - एंड्रोइड एप्लिकेशन में वायरस अटैच कर मोबाइल हैक किया जा सकता है. मोबाइल एप्स और दूसरे लिंक की मदद से भी मोबाइल हैक हो सकते है. वहीं सेंसर के इस्तेमाल से निजी जानकारी निकाली जा रही. फ्री चार्जिंग सर्विस स्टेशन और वायरलेस चार्जिंग से भी स्मार्टफोन हैक किया जा सकता है. कुछ जरूरी सावधानी रखी जाए. तो साइबर स्टोकिंग से बचा जा सकता है. जैसे सार्वजनिक स्थानों और पार्टी में वायरलेस सर्विसेज को बंद कर दें.

स्मार्टफोन में फोन लॉक सिस्टम हमेशा ऑन रखे. रजिस्टर्ड एंटी वायरस एक्टिवेट रखे. फोन बेचते समय कम से कम दो से तीन बार फार्मेट करें. तो भलाई इसी में है. कि टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल सही और सावधानी से करें. ताकी आप किसी मुश्किल में ना पड़ों

Trending News

Related News