News

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन एक बार फिर विवादों में..

Last Modified - May 10, 2017, 1:18 pm

 

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन एक बार फिर विवादों में हैं. इस बार बिसेन ने मध्यप्रदेश के सभी पटवारियों को रिश्वतखोर ठहरा दिया है। बिसेन के बयान के बाद सियासी हल्को में बवाल मच गया है। बिसेन के ही साथी मंत्री ने उन्हें सिर्फ अपना कृषि विभाग देखने की नसीहत दे दी है तो वहीं पटवारी संघ ने भी मोर्चा खोल दिया है।विवाद, बवाल और अटपटे बयान.मध्यप्रदेश के दिग्गज मंत्री गौरीशंकर बिसेन का पर्याय बन चुके हैं.. अब जरा सिवनी में एक सभा में दिए गए बिसेन के इस बयान को ही सुन लीजिए.

तो सुना आपने बिसेन साहब चैलेंज दे रहे हैं प्रदेश के सभी पटवारियों को.  कि मध्यप्रदेश का कोई एक पटवारी सामने आए आए और अपने सीने पर हाथ रख कर कह दे कि उसने बिना लेनदेन के किसी की जमीन नापी है.. तो वो उसका सार्वजनिक अभिनंदन कर देंगे.. बिसेन यहीं नहीं रूके. उन्होंने प्रदेश के बाबुओं और कलेक्टर-एसडीएम के स्टेनो के खिलाफ भी जमकर बोला.. बिसेन के इन बड़बोले बयानों से अब बवाल खड़ा हो गया है। प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह ने बिसेन को नसीहत दी है कि उन्हें सिर्फ अपना कृषि विभाग देखना चाहिए। 

उधर बिसेन के इस बयान के बाद पटवारी संघ ने एक बार फिर आंदोलन की धमकी दी है, और सीएम को चिट्ठी लिखकर बिसेन पर कार्रवाई की मांग की है। सूत्रों के मुताबिक मुख्यमंत्री शिवराज ने भी इस बार बिसेन के बड़बोलेपन को गंभीरता से लिया है और उन्हें मंत्रालय में अपने केबिन में बुलाकर सार्वजनिक मंच से विवादित बयान न देने की नसीहत दी है.. आगे जो भी हो.. लेकिन हर बार की नसीहत के बाद भी.. बिसेन हैं, कि मानते ही नहीं।

Trending News

Related News