बस्तर News

सुकमा में बुरकापाल की घटना के बाद दहशत में ग्रामीण..

Last Modified - May 13, 2017, 12:06 pm

सुकमा में बुरकापाल की घटना के बाद आसपास के गांव में नक्सलियों के साथ-साथ पुलिस और फोर्स की इतनी दहशत है, कि ग्रामीण पलायन कर रहे हैं। अफसर भी इस बात को कबूल करते हैं, कि पहली बार किसी नक्सली घटना के बाद पुलिस की टीम पूछताछ के लिए घोर नक्सल प्रभावित गांवों में पहुंची है।

सुकमा के बुरकापाल में 24 अप्रेल को हुए नक्सली हमले में CRPF के 25 जवानों के शहीद के होने बाद बदली हुई रणनीति के तहत पुलिस पहली बार घटनास्थल के आसपास के गांवों में घुसकर घटना में शामिल नक्सलियों और उनका साथ देने वालों की तलाश कर रही है । पहले से ही नक्सलियों की प्रताड़ना से सहमे हुए बुरकापाल,मिनपा,ताड़मेटला,मुकरम,चिंतलनार और चिंतागुफा के ग्रामीण पुलिस की धमक से दहशत में है । 

वहीं आसपास डेरा जमाए नक्सलियों के बटालियन नम्बर एक के सदस्य ग्रामीणों को घटना के संबंध में मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी दे रहे है। ऐसे में ग्रामीणों के सामने एक तरफ कुआं और दूसरी तरफ खाई की स्थिति बन गई है। ग्राणीण दहशत के चलते गांव से पलायन कर रहे हैं ।

इसके पहले नक्सली हमले के बाद कभी पुलिस गांव में पूछताछ के लिए नहीं पहुंची थी। घटना में शामिल नक्सली सहयोगियों की तलाश में पुलिस फोर्स की आसपास के गांव में लगातार सर्चिंग फायदेमंद भी साबित हो रही है। सर्चिंग के दौरान ही पुलिस को बुरकापाल घटना में नक्सलियों का साथ देने वाले 9 लोगों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है ।अब देखना ये है, कि पुलिस ग्रामीणों का विश्वास कैसे और कब तक हासिल करती है, ताकि वे नक्सलियों का सहयोग करने की बजाए पुलिस तक सूचनाएं पहुंचाएं ।

 

Trending News

Related News