News

NSG मामले पर भारत ने रूस को चेताया..

Last Modified - May 17, 2017, 1:04 pm

 

भारत ने रूस से साफ-साफ कह दिया कि अगर उसे NSG की सदस्यता नहीं मिली तो वो परमाणु ऊर्जा विकास के कार्यक्रम में विदेशी पार्टनर्स को सहयोग करना बंद कर देगा. साथ ही वो रूस के साथ कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा परियोजना की रिएक्टर यूनिट्स को विकसित करने से जु़ड़े MOU पर ध्यान नहीं देगा. 

वैश्विक मुद्दों पर चीन के साथ खड़े नजर आने वाले रूस से भारत यह उम्मीद करता रहा है कि वह भारत की एनएसजी सदस्यता के लिए चीन पर दवाब डालेगा। अब तो रूस को भी यह महसूस होने लगा है कि भारत कुडनकुलम एमओयू को लेकर जानबूझकर देरी कर रहा है ताकि वह एनएसजी सदस्यता के लिए रूस पर दबाव डाल सके। 

एमओयू साइन करने को लेकर भारत के 'टालमटोल' से फिक्रमंद रूस के उपप्रधानमंत्री दिमित्री रोगोजिन ने पिछले सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात में यह मुद्दा उठाया था। एक टॉप ऑफिशल सूत्र ने यह बात कन्फर्म की है। हालांकि भारत की ओर से इस मुलाकात में एमओयू साइन करने को लेकर कोई भरोसा नहीं दिलाया गया।

 

Trending News

Related News