News

रमन कैबिनेट की अहम बैठक: 1 करोड़ से बढ़ाकर डेढ़ करोड़ की जा सकती है मंत्रियों के स्वेच्छानुदान की रा

Last Modified - May 24, 2017, 7:15 am

आज रमन कैबिनेट की बैठक हुई...जिसमें स्कूल शिक्षा विभाग में शिक्षकों की कमी को लेकर गरमागरम बहस हुई । मंत्रियों ने इस बात को लेकर नाराजगी जताई कि शिक्षक रिटायर हो रहे हैं, लेकिन उनकी भर्ती नहीं हो रही है...। आलम ये है कि शिक्षा विभाग में स्थाई शिक्षकों के 22 फीसदी पद ही बचे हैं। वहीं प्रदेश में विषयवार शिक्षकों के करीब 25 हजार पद खाली हैं ।

वहीं रमन कैबिनेट की बैठक में शक्कर पर सभी 56 लाख राशन कार्ड धारियों को सब्सिडी जारी रखने का फैसला किया गया । वहीं बैठक में उद्योगों को ऊर्जा प्रभार में प्रति यूनिट 1.40 रूपए की छूट जारी रखने का निर्णय हुआ । मंत्रिमंडल ने मिनी स्टील प्लांट, स्टील उद्योग, राईस, दाल मिल को विद्युत शुल्क में 3 फीसदी की राहत देने का फैसला किया है।

इसके अलावा ऐसे बड़े स्टील उद्योग, जिनकी वार्षिक क्षमता 2 मिलियन टन से ज्यादा है और स्वयं के केप्टिव पॉवर प्लांट से उत्पादित बिजली का उपयोग कर रहे है, उन्हें भी 3 प्रतिशत की राहत दी गई है। कैबिनेट ने सामान्य भविष्य निधि पर अप्रैल से जून के बीच 7.9 फीसदी ब्याज दर रखने का फैसला किया । साथ ही 15 प्रजातियों के पेड़ों को काटने और परिवहन पर ट्रांजिट पास से छूट दे दी है। 

   

 

Trending News

Related News