बिलासपुर News

बिलासपुर: बोडसरा हिंसा मामले पर सरकार ने सभी आरोपियों के खिलाफ केस वापस लिया

बिलासपुर के बोडसरा गांव में 2008 में हुई हिंसा के मामले में सरकार ने सभी आरोपियों के खिलाफ मामला वापस लेने का आवेदन किया है. बिलासपुर जिला कोर्ट में सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने एक पत्र कोर्ट में पेश कर कहा कि सरकार हिंसा और दूसरी धाराओं के सभी आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं चाहती. सरकार के इस रूख पर हाईकोर्ट में अपील करने वाली निरुपमा बाजपेयी ने हैरानी जताई है और कहा है कि जिस हिंसा में एस पी समेत पुलिस पर हमला हुआ सरकारी गाड़ियां जला दी गईं. उसे सरकार वापस ले रही है. 

निरूपमा के मुताबिक जिस बाड़े को लेकर हिंसा हुई वो उनका था. लेकिन इस मामले में उन्हें पार्टी ही नहीं बनाया गया अब वो हाईकोर्ट में एक आवेदन देंगी कि सरकार अपने राजनीतिक लाभ के लिए ये मामला वापस लेना चाह रही है. उधर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव का कहना है, कि ये एक प्रक्रिया है अगर सरकार को लगता है कि मामला वापस लेना चाहिए तो वो वैसा कर सकती है. मामले के आरोपी बालदास के बीजेपी में प्रवेश को लेकर उन्होने कहा, कि वो डूबती नांव में सवार होना चाहते हैं, तो ये उनका निर्णय है। बता दें 2008 में बोडसरा गांव में निरुपमा बाजपेयी के बाड़े में सतनामी समाज के प्रमुख बाबा बालदास साहेब की अगुवाई में जैतस्तंभ स्थापना की कोशिश की थी इस दौरान हिंसा हुई थी।

 

Trending News

Related News