News

राष्ट्रपति पद के लिए छत्तीसगढ़ में 100 प्रतिशत वोटिंग

छत्तीसगढ़ में राष्ट्रपति चुनाव के लिए पूरे के पूरे नब्बे वोट डाले गए। सबसे पहला वोट PWD मिनिस्टर राजेश मूणत ने डाला, वहीं मतदान करने वाले आखिरी विधायक अमित जोगी थे। निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा के स्लोगन वाला कुर्ता पहनकर आने पर उन्हें पहले वोट डालने से रोक दिया गया था। लेकिन कुर्ते के ऊपर जैकेट पहनने पर उन्हें मतदान की इजाजत मिली। मतदान के बाद जहां मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने अपनी-अपनी पार्टी के उम्मीदवार को ज्यादा वोट मिलने का दावा किया। 

राष्ट्रपति पद के लिए छत्तीसगढ़ में शत-प्रतिशत वोटिंग हुई। छत्तीसगढ़ विधानसभा परिसर में सुबह 10 बजे लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत ने पहला वोट डाला। शुरूआत के एक घंटे में 81 वोट पड़े, वहीं दोपहर एक बजे तक 89 विधायकों ने मतदान किया। लेकिन सबसे आखिरी वोट अमित जोगी ने डाला। सुबह कुछ समय के लिए मतदान केन्द्र के सामने लाइन भी लगी। मतदान के बाद मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस बात पर खुशी जताई कि पहली बार बीजेपी का प्राथमिक सदस्य राष्ट्रपति पद तक पहुंच रहा है। 

नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने स्वीकार किया कि पूरे देश में ये दिख रहा है कि पलड़ा बीजेपी का भारी है। रेणु जोगी ने कहा कि वे तो मीरा की हैं, वहीं अमित जोगी ने भी कहा कि उन्होंने महिला उम्मीदवार को वोट किया है। आर.के. राय ने अंतरात्मा की आवाज से वोट डालने की बात कही। 

वहीं निर्दलीय विधायक विमल चोपड़ा स्लोगन लिखा कुर्ता पहनकर आए...जिस पर चुनाव अधिकारी ने मतदान से रोक दिया। जब उन्होंने कुर्ते के ऊपर जैकेट पहना, तो वोटिंग की इजाजत मिली...। 

राष्ट्रपति चुनाव में छत्तीसगढ़ की सीटों के हिसाब से तय था... कि रामनाथ कोविंद का पलड़ा भारी रहेगा। हालांकि तीन विधायकों को लेकर असमंजस की स्थिति थी, मगर वोटिंग के बाद उनके बयानों से तस्वीर और भी साफ हो गई।

 

Trending News

Related News