IBC-24

माउंट आबू: रेगिस्तान में हिल स्टेशन

Reported By: Pushpraj Sisodiya, Edited By: Pushpraj Sisodiya

Published on 05 Jun 2015 11:03 PM, Updated On 05 Jun 2015 11:03 PM

पश्चिमी राजस्थान जहां रेगिस्तान की खान है, तो शेष राजस्थान विशेषकर पूर्वी और दक्षिणी राजस्थान की छटा अलग और निराली ही है। वहां सुंदर झीलें और प्रकृति के वरदान से भरपूर नजारे, हरी-भरी वादियों से सजी-धजी पहाडि़यां और वन्य जीवों से भरपूर अभयारण्य भी है। ‘माउंट आबू’ ऐसा ही एक अनुपम दर्शनीय स्थल है जो कि न केवल ‘डेजर्ट-स्टेट’ कहे जाने वाले राजस्थान का इकलौता ‘हिल स्टेशन’ है, बल्कि गुजरात के लिए भी ‘हिल स्टेशन’ की कमी को पूरा करने वाला ”सांझा पर्वतीय स्थल” है। दक्षिणी राजस्थान के सिरोही जिले में गुजरात की सीमा से सटा यह ‘हिल स्टेशन’ चार हजार फीट की ऊंचाई पर बसा हुआ है।माउंट आबू कभी राजस्थान की जबरदस्त गरमी से बदहाल पूर्व राजघरानों के सदस्यों का ‘समर-रिसोर्ट’ हुआ करता था। बाद में इसे ”हिल ऑफ विजडम” भी कहा जाने लगा, क्योंकि इससे जुड़ी कई धार्मिक और सामाजिक मान्यताओं ने इसे एक धार्मिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक केंद्र के रूप में भी विख्यात कर दिया है। अरावली पर्वत श्रृंखलाओं के दक्षिणी किनारे पर पसरा यह ‘हिल स्टेशन’ अपने ठंडे मौसम और वानस्पतिक समृद्धि की वजह से देश भर के पर्यटकों का पसंदीदा सैरगाह बन गया है और मरुस्थल में हरे नखलिस्तान का आभास देता है। माउंट आबू न केवल गर्मियों में सैलानियों का स्वर्ग है बल्कि यहां मौजूद ग्याहरवीं और तेहरवीं शताब्दी की अनूठी और बेजोड़ स्थापत्य कला के श्रेष्ठतम नमूने दिलवाड़ा के मंदिरों में देखे जा सकते हैं। इन मंदिरों ने इसे जैनियों का प्रमुख तीर्थ बना दिया है। वहीं प्रजापति ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय साधना केंद्र की बदौलत माउंट आबू की शोहरत सारी दुनिया में फैल गई है। पास ही गुजरात सीमा में अंबाजी का भी प्रसिद्ध मंदिर है।नक्की झील, सनसेट प्वाइंट, हनीमून प्वाइंट, टॉड रॉक, दिलवाडा जैन मंदिर, म्यूजियम और आर्ट गैलरी, गुरु-शिखर, अचलगढ़, वशिष्ठ जी का आश्रम, गोमुख, वन्यजीव अभयारण्य, राजभवन यहां के दर्शनीय स्थल हैं। माउंट आबू का निकटतम हवाई अड्डा उदयपुर है जो 185 कि.मी. दूर है। इसी तरह अहमदाबाद हवाई अड्डा 235 कि.मी. की दूरी पर स्थित है, जबकि जोधपुर हवाई अड्डा 267 कि.मी. दूर है। वहीं माउंट आबू का निकटतम रेलवे स्टेशन आबू रोड है जो कि मात्र 28 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। यह रेलवे स्टेशन दिल्ली-अहमदाबाद बड़ी लाईन (ब्रॉडगेज) पर है जहां सभी प्रमुख रेलगाडि़यां रुकती है। माउंट आबू पर्वतीय स्थल के लिए यहां से टैक्सियां उपलब्ध रहती है। साथ ही देश के सभी प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग द्वारा माउंट आबू पहुंचा जा सकता है। निकटतम शहर उदयपुर मात्र 185 कि.मी. की दूरी पर है और उदयपुर से ईसवाल, गोगूंदा, जसवंत गढ़, पिंडवाड़ा होते हुए माउंट आबू पहुंचा जा सकता है।
ibc-24