भोपाल News

किसान आंदोलन, सरदार सरोवर बांध और सियासत..

Last Modified - August 4, 2017, 11:24 am

मध्यप्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव पर किसान आंदोलन और सरदार सरोवर बांध का असर देखने को मिल सकता है. यदि ऐसा हुआ तो निकाय चुनाव में बीजेपी की हालत खस्ता हो जाएगी. निकाय चुनाव का परिणाम बीजेपी के विपरित न जाए इसके लिए सीएम शिवराज ने खुद मोर्चा संभाल लिया है.

मध्य प्रदेश में होने वाले नगरीय निकाय चुनाव बीजेपी के लिए चुनौती साबित हो रहे है. बीजेपी के अंदरूनी सर्वे में भी पार्टी की हालात खस्ता बताई जा रही है. जिसके बाद अब मंत्री और और खुद सीएम शिवराज इन चुनावों में जीत के लिए पसीना बहा रहे है. आंदोलन के बाद पार्टी निकाय चुनाव में जीत हांसिल करके ये साबित करना चाहती है कि शिवराज का चेहरा और पार्टी का दबदबा अब भी कायम है.

सीएम शिवराज ने मोर्चा संभालते हुए मंत्रियों को क्षेत्रवार जिम्मेदारी सौंपी है. बागियों को वापस पार्टी में शामिल करने के लिए रणनीति भी बनाई गई है. लेकिन कांग्रेस ने चुनाव से पहले बीजेपी पर बयानबाजी करके दबाव बनाना शुरु कर दिया है.

नगरीय निकायों के चुनाव भले ही छोटे नजर आ रहे हो. लेकिन ये चुनाव दो बातें तय कर देंगे. पहला ये कि किसान आंदोलन के बाद भाजपा के अजेय दुर्ग की जमीनी हालत क्या है और दूसरा ये कि 2018 के लिए हवा किस दिशा में बह रही है.

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News