News

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीज़न की कमी से 32 बच्चों की मौत के बाद मचा बवाल

 

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में 32 मासूम बच्चों की मौत के बाद पूरा देश सकते में है। पिछले 36 से 48 घंटों के बीच इन बच्चों की मौत मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की सप्लाई में हुई गड़बड़ी की वजह से होने की बात सामने आई है। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री और कलेक्टर ने ऑक्सीजन की कमी की बात से इनकार किया है और पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। 

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती, जिंदगी और मौत के बीच झूलते मासूम. भीतर डॉक्टर और नर्सों की टीम और बाहर बेचैन परिजन के साथ पहरा देते वर्दीवाले. ये सब तस्वीरें उसी गोरखपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल की हैं, जहां दो दिन पहले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दौरा किया था। लेकिन इसके ठीक बाद यहां उजागर हुई बड़ी लापरवाही ने मासूमों की मौत का तांडव मचा दिया। खबर है कि अस्पताल में आक्सीजन की कमी से 30 मासूम बच्चों की सांसों की डोर टूट गई। 

डॉक्टरों के मुताबिक सभी बच्चों की मौत ICU में हुई है। दस अगस्त को 23 और 11 अगस्त को 7 बच्चों की मौत हुई है। वहीं ये भी बात सामने आई है कि सात अगस्त से अब तक यानी सिर्फ चार दिनों में 60 बच्चों की मौत अस्पताल में हुई है। हालांकि इन मौतों के कारण को लेकर कोई स्पष्ट बात सामने नहीं आई है। 70 लाख का भुगतान नहीं होने से ऑक्सीजन की सप्लाई में हुई गड़बड़ी की बात से स्वास्थ्य मंत्री और कलेक्टर ने इनकार किया है। साथ ही पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। 

योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद इलाके में हुई घटना के बाद सियासत भी शुरू हो गई है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। साथ ही मृतक बच्चों के परिजन को 20-20 लाख मुआवजे की मांग की है। 

Trending News

Related News