रायपुर News

नान घोटाला:गवाह को अभियुक्त बनाने के मामले की सुनवाई HC में होगी

Last Modified - August 24, 2017, 10:59 am

नान घोटाले के तीन आरोपियों को पहले गवाह और फिर अभियुक्त बनाने के मामले की सुनवाई हाईकोर्ट में ही होगी। तीनों आरोपी कर्मचारियों ने हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी, जहां से बुधवार को मामला फिर हाईकोर्ट में भेज दिया गया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हाईकोर्ट का आदेश 164 स्टेटमेंट पर बेस है, लेकिन इस पर जाने की जगह हाईकोर्ट को इंडिपेंडेंट मटेरियल को देखकर फैसला करना चाहिए था. दरअसल 12 फरवरी 2015 को जब ACB ने नागरिक आपूर्ति निगम के कई अधिकारियों, कर्मचारियों के घरों और नान दफ्तरों में छापा मारा था तो गिरीश शर्मा, अरविंद सिंह ध्रुव और जीतराम यादव के पास से भी लाखों रुपए बरामद किए थे। इन तीनों का नाम FIR में भी था, लेकिन बाद में इन्हें अभियुक्त की जगह गवाह बना दिया गया था। इन्हें गवाह बनाने के खिलाफ एक अन्य आरोपी कौशल किशोर यदु ने हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। कोर्ट ने सुनवाई करते हुए इन तीनों को गवाह से फिर अभियुक्त की सूची में शामिल करने कहा था. और इसी आदेश को गिरीश शर्मा समेत तीनों आरोपियों ने सुप्रीम कोर्ट में हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती दी थी।

Trending News

Related News