News

चारपाई पर बेटी का शव, ये तस्वीर बदलनी चाहिए !

 

बस्तर के सुकमा जिले मे मानवता को शर्मसार होता सैकड़ों बार देखा जा चुका है पर यहाँ के लोगो की बदनसीबी दुर होने का नाम नही ले रही है कभी बहु अपनी सास के अर्थी को कंधा देते नजर आती है तो कभी सरकार की तमाम योजनाओं को तमाचा मारती तस्वीरों मे बेटी की अर्थी थामे पिता नजर आता है ताजा मामला सुकमा के गादीरास इलाके का है बेटी की मौत के बाद पीएम कराने की लिए घर से निकले तो वाहन नही था, एम्बुलेंस ने आने से मना कर दिया क्योंकि सुबह ही एम्बुलेंस उन्हे आधे रास्ते मंे छोड़कर चली गई थी। गरीबी का दंश उनके चेहरे व घर की स्थिति से साफ झलक रहा था। निजी वाहन करना उनके आपे से बाहर था। जिसके चलते पीएम कराने के लिए पिता-पुत्र चारपाई पर ही शव को लेकर निकल पड़े। रोते-बिलखते परिजनों के साथ करीब 8 किमी का सफर तय करके गादीरास पहुँचे। 

मानवता को शर्मसार करती यह तश्वीर सुकमा जिले की हैं जो यहाँ की व्यवस्था की पोल खोल रही हैं । अधिकारी व डॉक्टरों की लापरवाही के चलते सुबह छात्रा का पीएम नही कराया गया जिसके चलते परिजनों को उसे वापिस लेकर गादीरास आना पड़ा। गादीरास में संचालित गोंदपल्ली आश्रम की छात्रा की आज सुबह मौत हो गयी । बताया जाता हैं कि शनिवार रात को कक्षा पांचवी की छात्रा पूजा पिता आयता 10 वर्ष की तबियत अचानक खराब हो गयी और उसे दस्त होना शुरू हो गया । रात के करीब 9 बजे रहे थे और अधीक्षिका को घर जाना था । तो उसने उक्त छात्रा को अस्पताल ले जाने के बजाए अपने घर ले जाना मुनासिब समझा । जबकि आश्रम के कुछी दूरी पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मौजूद हैं । जैसे जैसे रात बीतती गई छात्रा की तबियत और बिगड़ती चली गयी। आनन-फानन में अधीक्षिका रविवार सुबह छात्रा को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुँची । लेकिन तब तक देर हो चुकी थी । डॉक्टर एसके देवांगन व आरके भोई के अनुसार छात्रा का शरीर एक दम ठंडा पड़ चुका था और पल्स की स्थिति जीरो के लगभग थी। उन्होंने तुरंत उसे जिला अस्पताल रेफर किया लेली झलियारास के पास छात्रा ने दम तोड़ दिया। जिला अस्पताल पहुँचने पर छात्रा को डॉक्टरों ने मृत घोषित किया और पीएम करने के बजाए वापिस गादीरास भेज दिया। गादीरास से मृतक छात्रा के शव को बिना पीएम करे उसके गृहग्राम रवाना किया गया। एम्बुलेंस चालक छात्रा के शव व उसके परिजन को खराब रास्ते का हवाला देकर आधे रास्ते मे ही छोड़कर वापिस चला आया। बाद में सरपंच व परिजनों ने पीएम कराने की बात कही और वापिस छात्रा के शव को चारपाई पर लेकर गादीरास पहुँचे।

 

Trending News

Related News