News

बलात्कारी बाबा को लगी 'हनी' की तलब, जेल में मसाज चाहता है 'बाबा'

Last Modified - September 2, 2017, 12:09 pm

 

बलात्कारी बाबा गुरमीत राम रहीम जेल में मसाज कराना चाहता है लेकिन उसन मसाज के लिए हनीप्रीत जेल में उसके साथ रहने की अनुमति मांगी है. उसकी दलील है कि हनीप्रीत उसकी फिजियोथेरेपिस्ट के साथ-साथ मसाज करने वाली भी है. बतादें गुरमीत राम-रहीम को साध्वियों से साथ रेप के दो मामलों में 20 साल की सज़ा मिली है. 

हनीप्रीत के खिलाफ लुकआउट नोटिस

हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत इंसा के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है. दरअसल हनीप्रीत पर आरोप है कि उसने गुरमीत रामरहीम को जेल से भगाने की साजिश रची थी. कोर्ट के द्वारा रामरहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद हनीप्रीत उसके साथ भाग जाना चाहती थी. कुछ दिन पहले मेल टुडे के साथ बातचीत में हनीप्रीत के पराए पति ने दावा किया था कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख के अपनी गोद ली हुई बेटी के साथ यौन संबंध थे. और उन्होंने दोनों को संबंध बनाते रंगे हाथ पकड़ा था. जिसके बाद हनीप्रीत को उसके पति ने तलाक दे दिया था.

दोषी करार दिए जाने के बाद 'पिता-पुत्री' ने कोर्ट से गुहार लगाई थी कि उन्हें साथ रहने की अनुमति दी जाए. हनीप्रीत ने अपने वकील के जरिए कोर्ट में एप्लीकेशन दिया था, जबकि गुरमीत राम रहीम ने कोर्ट में याचिका लगाई थी. कोर्ट ने दोनों की गुहार को खारिज कर दिया. हालांकि गुरमीत को दोषी करार दिए जाने के दिन पुलिस ने दोनों को कोर्ट से रोहतक तक साथ जाने दिया और सुनैरा जेल में पुलिस गेस्टहाउस में दोनों साथ ही रहे.

हनीप्रीत देश छोड़कर भाग सकती है ! 

हालांकि दिलचस्प बात ये है कि गुरमीत राम रहीम ने अपने परिवार के किसी सदस्य, पत्नी, बेटे या बेटी को जेल में साथ रहने के लिए नहीं पूछा है. लेकिन, हनीप्रीत के गायब होने के बाद रामरहीम बेचैन है. सूत्रों के मुताबिक रामरहीम ने जेल प्रशासन से हनीप्रीत को उसके पास लाने की गुजारिश की है. कोर्ट के फैसले दिन ही हनीप्रीत को गुरमीत रामरहीम के साथ आखिरी बार देखा गया था. आईजीपी (लॉ एंड ऑर्डर) क्यूएस चावला ने कहा कि हनीप्रीत के पास पासपोर्ट है और वह देश छोड़कर भाग भी सकती है.  

रात में रोता रहता है गुरमीत रामरहीम

दलित लीडर स्वदेश किराड रोहतक जेल में ही कुछ दिन थे और अब बाहर हैं. जेल में किराड की सेल रामरहीम के बगल में थी. उन्होंने बताया कि रामरहीम सबसे यही पूछ रहा है कि 'मेरी क्या गलती है? मैंने क्या किया है?. 20 साल की सजा सुनाए जाने के बाद गुरमीत रामरहीम रोने लगा था. किराड ने बताया कि 'वह खड़ा हो पाने की हालत में भी नहीं था. दो अधिकारी उसे लेकर जेल में गए. देखने में वो अपसेट और डरा हुआ लग रहा था. उसे हर समय सिर पकड़कर बैठे हुए और रात में रोते हुए देखा जा सकता है.'

 

लाइव टीवी देखने के लिए क्लिक कीजिए

 

Trending News

Related News