जांजगीर-चांपा News

बारिश खत्म होने को है, अब तक नहीं बांटी गई मच्छरदानी

Last Modified - September 2, 2017, 4:35 pm

 

जांजगीर-चांपा में मलेरिया को लेकर स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आई है। बारिश ख़त्म होने को है, लेकिन ज़िले में मलेरिया के हाई रिस्क एरिया में अबतक मच्छरदानी नहीं बांटी गई है। लोगों ने स्वास्थ्य विभाग पर खानापूर्ति करने का आरोप भी लगाया है। वहीं अधिकारी भी सिर्फ सक्ती ब्लॉक में ही 10 दिनों के अंदर मच्छरदानी बांटने की बात कह रहे हैं।

जांजगीर-चांपा ज़िले में हर साल मलेरिया से कई लोगों की मौत होती है। यहां बलौदा और सक्ति ब्लॉक सबसे ज्यादा प्रभावित रहते हैं और क़रीब 66 गांव हाई रिस्क एरिया में शामिल हैं। बारिश के दिनों में मलेरिया के सबसे ज्यादा मरीज़ मिलते हैं, लेकिन हैरत की बात तो ये है, कि अबतक लोगों को मच्छरदानी नहीं बांटी गई है। लोगों ने स्वास्थ्य विभाग पर खानापूर्ति करने का आरोप भी लगाया है। 

ज़िला मरेलिया अधिकारी की दलील है, कि स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। दवाएं भी उपलब्ध हैं। हाई रिस्क एरिया के गांवों में स्वास्थ्य अमला जांच कर चुका है। दवा का स्प्रे हो चुका है, लेकिन मच्छरदानी इस साल, केवल सक्ती ब्लॉक के प्रभावित गांवों को मिल रही है और वो भी 10 दिनों में आएगी।

लोग मच्छर से परेशान हैं तो सड़क की समस्या भी है। तबियत बिगड़ती है तो मरीज़ को खाट में रखकर ले जाना पड़ता है, क्योंकि 108 या कोई भी एम्बुलेंस गाड़ी नहीं पहुंचती। आलम ये है, कि ग्रामीणों की कमाई मलेरिया के इलाज में ही खत्म हो जाती है।

 

 

#LIVE TV देखने के लिए क्लिक करें

Trending News

Related News