News

बरसात में यहां बहता है लाल पानी

Last Modified - September 3, 2017, 6:21 pm

 

बैलाडीला क्षेत्र मे लाल पानी की समस्या जस की तस बनी हुई है बरसात के दिनो मे समस्या बढ जाती है एनएमडीसी खदान से लौहचुर्ण नदी नालो मे बहते हुये आदिवासि ग्रामिणो के खेतो तक पहुंच जाता है हाल ही मे हुये तेज बारिश मे पाढापुर इलाके स्थित नाले का बहाव सडक के उपर से होने लगा और यहा बने बंड को तोडकर पानि लौह चुर्ण् के साथ बहने लगा । लौह्चुर्न युक्त लाल पानी किसानो की खेत और मवेशियो के लिये जहर के समान होता है । इसको रोकने के लिये एनएमडीसी के पास अब तक कोइ बेहतर विकप्ल नही मिल पाया है । शासन ने हाल ही मे जल प्रदुषण पर नियंत्रण नही कर पाने से एनएमडीसी के 3 बड़ी अधिकारियो पर ममला दर्ज कराया है ।

आदिवसि संगठन लाल पानी के विरोध मे आये दिन एनएमडीसी के खिलाफ मोर्चा खेतले रहे है लगातार विरोध प्रदर्शन के बाव्जुद भी पर्यावरण सरन्क्षण और प्रदुषण नियंत्रण के लिये कोइ पहले नही किया जा रहा । लगभग 50 वर्षो से एनएमडीसी क्षेत्र के लौह अयस्क का दोहन कर रहा है तब से ही यह समस्या बनी हुइ है आरबो खरबो का लाभ कमाने वाले कम्पनी के आस्पास के क्षेत्र लाल जहर का शिकार हो रहे है मवेशियो की अयु कम हो गई है हर साल सैकडो एकड फसल चैपट हो जाती है । ग्रामिणो मे इसको लेकर रोष है और फिर से आन्दोलन करने की बात कह रहे है ।

 

Trending News

Related News