News

छग: रणनीतिकार पीएल पुनिया के नेतृत्व में कांग्रेस ने 3 घंटे किया मंथन

Last Modified - September 8, 2017, 9:50 pm

 

मिशन 2018 की चुनावी तैयारी को परखने के लिए पांच दिन के दौरे पर आए छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी पी एल पुनिया ने शुक्रवार को समन्वय समिति की बैठक ली। बैठक में मिशन 2018 के रोडमैप को लेकर प्रदेश और AICC के दिग्गजों नेताओं ने अपनी राय प्रदेश कंग्रेस के नीतिकार के सामने रखी। करीब 3 घंटे तक रणनीति की प्लानिंग होती रही.....हालांकि गोपनीयता के चलते बैठक में बनी रणनीति का खुलासा नहीं किया गया। 

दरअसल, पुनिया की मुश्किल एक दिन पहले अपनी ही पार्टी के आदिवासी नेता राम दयाल उईके के बयान ने बढ़ा दी थी। रायपुर आते ही पुनिया ने बयान दिया था कि 2018 का चुनाव प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल के नेतृत्व में लड़ा जाएगा। इशारा साफ था कि चुनाव की कमान ओबीसी नेतृत्व के हाथ में होगी। लेकिन पार्टी विधायक राम दयाल उईके ने आदिवासी मुख्यमंत्री की मांग बुलंद कर पार्टी के लिए असहज स्थिति पैदा कर दी है। बयान से मचे बवाल के बाद रामदयाल उइके समन्यवय समिति की बैठक में शामिल भी नहीं हुए, जिसे महज संयोग नहीं माना जा सकता। पार्टी के भीतर गुटों के असंतोष पर प्रदेश प्रभारी को जवाब देते भी नहीं बन रहा।

समन्वय समिति की बैठक में राम दयाल उइके के अलावा, पूर्व सांसद कमला मनहर, पुष्पा देवी सिंह और इंग्रिड मैक्लाउड भी नदारद रहीं। हालांकि, दो बैठक के बाद इतना जरूर साफ है कि पार्टी धान बोनस, गाय और भ्रष्टाचार के मुद्दे को अक्रामक तेवर के साथ जनता के बीच लेकर जाने की तैयारी में है। 

 

Trending News

Related News