News

आ रहा है 100 का सिक्का, पांच के नए सिक्के का भी बदलेगा रूप

सौ का सिक्का! जी हां, एक रुपये, दो रुपये, पांच रुपये और दस रुपये के सिक्के तो आप रोज देखते हैं, लेकिन बहुत जल्द सौ रुपये के सिक्के भी आपकी जेब में आने वाले हैं। कैसा होगा ये सिक्का, ये हम आपको सिक्का आने से पहले ही बता देते हैं। इस सिक्के के अगले भाग के ठीक बीच में अशोक स्तंभ पर शेर का मुख अंकित होगा, जिसके नीचे लिखा होगा सत्यमेव जयते। साथ ही सिक्के पर भारत और इंडिया अंकित होगा, सिक्के के ऊपर कीमत यानी 100 रुपये लिखा होगा साथ ही रुपये का निशान बना होगा। इस सिक्के का वजन है 35 ग्राम और इसे बनाने में 50 फीसदी चांदी, 40 फीसदी कॉपर, 5 फीसदी जिंक और 5 फीसदी निकेल का उपयोग होगा। सिक्के के दूसरी ओर एम जी रामचंद्रन बर्थ सेंटेनरी लिखा होगा, जिसके ऊपर उनकी आकृति अंकित होगी। मरुथुर गोपालन रामचंद्रन यानी एमजी रामचंद्रन के नाम से अधिक विख्यात हैं। उनके चाहने वाले लोग उन्हें एमजीआर के नाम से याद करते हैं। वह एक प्रसिद्ध भारतीय अभिनेता, फिल्म निर्माता और राजनेता थे। एमजी रामचंद्रन भारत की ऐसी पहली फिल्मी हस्ती हैं जो किसी राज्य (तमिलनाडु) के मुख्यमंत्री बने। एमजी रामचंद्रन का जन्म 17 जनवरी 1917 को हुआ था और निधन 24 दिसंबर 1987 को। एमजी रामचंद्रन भारत-चीन के बीच 1962 में हुए युद्ध के बाद बने युद्ध कोष में धनराशि दान करने वाले पहले भारतीय थे।


वर्ष 1960 में एम जी रामचंद्रन को पद्म श्री पुरस्कार के लिए चुना गया, लेकिन उन्होंने यह पुरस्कार लेने से इंकार कर दिया। वह पारंपरिक हिंदी के बजाए अपनी मातृभाषा तमिल में बोलना चाहते थे। इस पर उनके और सरकार के बीच असहमति थी। एमजीआर ने 1972 में फिल्म ‘‘ रिक्शाकरण‘‘ में अपनी भूमिका के लिए बेस्ट एक्टर का राष्ट्रीय पुरस्कार जीता। उन्हें मद्रास विश्वविद्यालय और विश्व विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की मानद उपाधि मिली।


तमिलनाडू समाज के बेहतरी में योगदान देने के लिए उन्हें मरणोपरांत वर्ष 1988 में भारत रत्न से नवाजा गया। अब उनके जन्म शताब्दी वर्ष यानी 2017 में उन्हें समर्पित 100 रुपये के सिक्के जारी करने की अधिसूचना जारी की गई है। इसके साथ ही 5 रुपये के नए सिक्के भी जारी किए जाएंगे। 5 रुपये के नए सिक्के भी एमजी रामचंद्रन की जन्म शताब्दी के अवसर पर ही जारी किए जाएंगे, इसका वजन 6 ग्राम होगा।

Trending News

Related News