News

मध्यप्रदेश में शराब पीने पर तीन युवकों का निकला जुलूस

Last Modified - September 20, 2017, 11:59 am



देश के कई राज्यों में शराबबंदी की बढ़ती मांग के बीच ये ख़बर शराबियों का नशा उतारने वाली है। मध्यप्रदेश में तीन युवकों को शराब पीना महंगा पड़ गया और इसकी ऐसी सज़ा मिली जिसके बाद वो शायद ही दोबारा शराब पीने की हिम्मत जुटा पाएं। मामला शिवपुरी के खार गांव का है जहां तीन आदिवासी युवकों को शराब पीने पर सिर के बाल मुंड दिए गए और फिर जूतों की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाया गया। इन तीनों के साथ-साथ जुलूस की शक्ल में गांव वाले भी निकले और सबको संदेश दिया कि अगर उन्होंने भी शराब से तौबा नहीं किया तो यही अंजाम होगा।

मध्यप्रदेश में 2018 में शराबबंदी का ऐलान कर सकती है सरकार, वित्त मंत्री जयंत मलैया ने जताई संभावना

हुआ कुछ यूं कि गांव के तीन आदिवासी युवकों ने शराब पी और फिर नशे में घर पहुंचे। युवकों की इस हरकत का उनकी पत्नियों ने विरोध किया तो घर में बदतमीजी की। इसके बाद उनकी पत्नियों ने पंचायत में शिकायत कर दी। पंचायत ने पत्नियों के पक्ष में फैसला सुनाया जिसके तहत सजा के तौर पर इन युवकों का सरेआम सिर मुंडाया गया। मुंडन के बाद इनके गले में जूतों की माला पहनाई गई और फिर उन्हें गांव में घुमाया गया। इस जुलूस में उन युवकों की पत्नियां भी शामिल हुईं।

बुजुर्ग को दूल्हा बनाकर गधे पर उल्टा बैठाकर निकाला जुलूस, अजीब मान्यताएं

आपको बता दें कि इस इलाके में शराबबंदी के समर्थन में कई संगठन काम कर रहे हैं। ऐसे ही एक संगठन ने पिछले दिनों 15 गांवों की शराबबंदी को लेकर पंचायत बुलाई थी। इसी पंचायत में ये फैसला किया गया कि आदिवासी शराब नहीं पिएंगे और अगर वो ऐसा करते हैं तो उन पर 11 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा। युवकों ने जब शराब पी तो इन पर पहले तो जुर्माना लगाया गया लेकिन इनके पास जुर्माना की राशि नहीं थी। इसके बाद पंचायत ने सज़ा का फ़ैसला सुनाया।

शराबबंदी और बीफ बैन से प्रभावित हो रही अर्थव्यवस्था: आदि गोदरेज

वैसे इस मामले पर पुलिस प्रशासन ने जांच के आदेश दे दिए हैं। पुलिस के मुताबिक कोई पंचायत कानून हाथ में लेकर इस तरह की सज़ा को अंजाम नहीं दे सकती और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News