IBC-24

क्या सच में शिव"राज" रामराज ? या "शिव"गण कर रहे चाटुकारिता

Reported By: Aman Verma, Edited By: Aman Verma

Published on 21 Sep 2017 05:49 PM, Updated On 21 Sep 2017 05:49 PM

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो बीजेपी के कई नेताओं के लिए युग पुरुष हैं ही, अब मध्यप्रदेश के मंत्री और बीजेपी विधायक शिवराज को मोदी से भी ऊपर भगवान से ज्यादा महान बताने में लगे है। मध्य प्रदेश में इन दिनों मंत्रियो और विधायकों पर शिवराज चालीसा का ऐसा असर है की अब भगवान को भी शिवराज के आगे बोना साबित करने में लगे हुए है। प्रदेश के राजस्व मंत्री उमा शंकर गुप्ता ने मध्य प्रदेश में शिव"राज" को राम राज्य से बेहतर क्या बताया ! बीजेपी के मंत्री विधायकों ने चाटुकारिता की हदें पार करते हुए अब शिव"राज" को भगवान राम के शासन से बेहतर बताने की होड़ शुरू हो गई। वैसे तो मध्य प्रदेश में मंहगे पेट्रोल डीजल, कुपोषण, बदहाल स्वास्थ्य सेवा, बेरोजगारी से जनता बेहाल है पर शिव के गण शिव"राज" को रामराज से बेहतर बताने में लगे है। 

शिवराज सिंह चौहान भगवान राम और कृष्ण से भी ज्यादा महान

कभी राम के नाम पर सत्ता में आई बीजेपी भले ही राम मंदिर को लेकर कुछ न कर पाई हो पर राम के नाम पर सत्ता में आने के लिए इस बार राम को ही बोना साबित करने में जुट गई है। शिव"राज" को रामराज से बेहतर बताने को चाटुकरिता की हद कहे या बीजेपी के लगतार सत्ता में बने रहने का गुमान। उमा शंकर गुप्ता के बाद प्रदेश सरकार के वित्त मंत्री जयंत मलैया और लाल सिंह आर्य ने भी शिवराज के राज्य को रामराज से बेहतर बताने के उमा शंकर गुप्ता के बयान का समर्थन किया है। जब मंत्री खुद शिव की भक्ति में लीन है तो लम्बे समय से मंत्री मंडल में आने के सपने देखने वाले विधायक कहा शिव की स्तुति में पीछे रहते। प्रदेश बीजेपी के कई विधायक भी अब शिवराज को बेहतर बताकर शिव के खास गण में शुमार होना चाहते है।

मानहानि मामले में गवाही देने पत्नी के साथ कोर्ट पहुंचे सीएम शिवराज

मध्य प्रदेश में जनता इन दिनों मंहगाई से बेहाल है। प्रदेश में कुपोषण की स्थिति देश में सबसे ज्यादा है। स्वास्थ्य सेवाओं के हाल बेहाल है। अपराध में एनसीआरबी के आंकड़े प्रदेश को देश में अव्वल स्थान देते है। ऐसे में शिव"राज" को रामराज से बेहतर बताने पर कांग्रेस इसे चाटुकारिता की हद बता रही है। अब राम राज की अलाप लगाने वाले भाजपाई गणों पर कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा "ये चाटुकारिता की हद है, रावण राज में भी ऐसा नहीं था जो शिवराज में है" दरअसल भिंड में एक कार्यक्रम के दौरान सीएम शिवराज के मंत्रिमंडल में शामिल मंत्री उमा शंकर गुप्ता ने मुख्यमंत्री के खूब कसीदे पढ़े थे। शिवराज सिंह की वाहवाही करते हुए राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने सारी हदें पार कर दीं। उन्होंने शिवराज सरकार के कार्यकाल को त्रेता युग में भगवान राम और द्वापर युग में कृष्ण से भी बेहतर बताया। उमा शंकर गुप्ता के बाद अब प्रदेश के मंत्री और विधायकों में शिवराज के गुणगान की होड़ सी मच गई। अब देखना यह होगा की बीजेपी के विधायक और सत्ता के लिए चाटुकारिता की और कितनी हदे पार करते है।

 

ये कैसा रामराज ?

आंकड़ों में शिवराज कुपोषण के मामले में शिव"राज" देश में पहले नंबर पर है। मध्य प्रदेश में पांच वर्ष से छोटे बच्चों की बाल मृत्यु दर के साथ एक वर्ष से छोटे बच्चों की मृत्यु दर और एक माह से छोटे बच्चों की मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है। नवजात शिशु मृत्यु दर का राष्ट्रीय औसत 26 है जो कि मध्यप्रदेश में 35 है। एनसीआरबी की ताजा रिपोर्ट बताती है कि बीते साल देश के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में दुष्कर्म की 34,651 वारदातें हुई हैं। इनमें सबसे ज्यादा 4391 रेप के वारदात बीजेपी शासित मध्यप्रदेश के शिव राज में हुई है।

फसल बीमा मुआवजा या शिवराज के राज में किसानों से मजाक ?

किसान आत्म ह्त्या के मामले में मध्य प्रदेश का नंबर देश में पांचवा है, हर रोज दो किसान आत्म ह्त्या कर रहे है। स्वास्थ्य सेवाओं में मध्य प्रदेश की बदहाल स्थिति देश में नंबर 2 पर है। बदहाल स्वास्थ्य सुविधाओं के कारण प्रदेश में रोजाना 82 बच्चों और 4 महिलाओं की प्रसव के दौरान मौत हो जाती है। डॉक्टरों की सबसे ज्यादा कमी मध्य प्रदेश में है। मप्र रोजगार कार्यालय में पंजीबद्ध बेरोजगारों की स्थिति के आंकड़े बताते है कि शिव"राज" में बेरोजगार युवाओं की संख्या 65 लाख से अधिक है। जिसमें चार महानगरों को देखें तो 45 लाख बेरोजगार युवा आज भी रोजगार के लिए दर-दर भटकने को बेबस हैं।

Web Title : kya sach me shiv"raj" ramraj ? ya "shiv"gad kar rahe chatukarita

ibc-24