News

रेलवे जल्दी पहुंचाने के लिए एनाकाॅन्डा और पाइथन से करवा रहा माल ढुलाई

Last Modified - September 25, 2017, 3:15 pm

 

भारतीय रेलवे ने अपनी माल टोही रफ्तार को तेज करने के लिए नया रास्ता अपनाया है नाम है पाइथन और एनाकाॅन्डा जी हां नाम सुनकर चैकिए मत ये खतरनाक सांप रेलवे के लिए काम नहीं करने वाले बल्कि भारतीय रेलवे कुछ ऐसी लंबी मालगाड़ियों का संचालन कर रही है जोकि सामन्य मालगाड़ियों की अपेक्षा कुछ ज्यादा लंबी है और देखने में सांप की तरह नजर आती है। इसी कारण इन ट्रेनों का नाम पाइथन, एनाकाॅन्डा रखा गया है। नाॅर्थन सेंट्रल रेलवे को पाइथन, वेस्ट्रन रेलवे को एनाकाॅन्डा और सेंट्रल रेलवे को मारूती नाम से जाना जाता है।

रेलवे कभी भी घटा-बढ़ा सकेगी किराया

वहीं कुछ अन्य लंबी दूरी की ट्रेनें न केवल सामान को जल्दी पहुंचाने  में मदद कर रही है बल्कि ये बहुत ही प्रभावी और कम खर्च वाली भी होती है। रेलवे के अनुसार सामान की तेज ढुलाई और ट्रैक से दबाव कम करने के लिए ट्रांसपोर्टर 1.4 किलोमीटर तक लंबी और कम से कम 118 बोगियों वाली ट्रेनों को प्राथमिकता दे रहे हैं। इन ट्रेनों में दो रैक प्रत्येक में 59 बोगियां, दो ब्रेक वैन और दो तीन इंजन का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

महिला के साथ आॅफिस में रेलवे कर्मचारियों का डांस वायरल

Trending News

Related News