News

भारत के नक्सली और आतंकी बच्चों को बना रहे अपनी ढाल - संयुक्त राष्ट्र

Last Modified - October 8, 2017, 2:18 pm

 

भारत में नक्सली और आतंकी संगठन बच्चों को भी शामिल कर रहे हैं। इस स्थिति पर संयुक्त राष्ट्र ने चिंता जाहिर की है. संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुतेरस ने सशस्त्र संघर्ष में बच्चों की स्थिति पर रिपोर्ट जारी करते हुए माना कि नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ और झारखंड में बच्चों का इस्तेमाल कर हमले करवाए.

"टेररिस्तान पाकिस्तान" को संयुक्त राष्ट्र में भारत का मुंहतोड़ जवाब

हालांकि रिपोर्ट में ये भी जिक्र है कि नक्सली पहले 6 राज्यों बिहार,छत्तीसगढ़, झारखंड, महाराष्ट्र,ओडिशा और पश्चिम बंगाल में बच्चों का उपयोग हमले करवाने में कर रहे थे लेकिन अब ये झारखंड और छत्तीसगढ़ तक सिमट कर रह गए हैं. छत्तीसगढ़ में कथित तौर पर माओवादियों की ओर से चलाए जा रहे स्कूलों में बच्चों को जंग लड़ने की ट्रेनिंग दी जाती है.

विश्व शांति के लिए भारत का योगदान सराहनीय - संयुक्त राष्ट्र

Trending News

Related News