राजगढ़रायगढ़ News

3000 बच्चों ने श्रृंखला बनाकर तैयार किया 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' अभियान का लोगो

Last Modified - October 12, 2017, 1:47 pm

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ ज़िले में 3000 बच्चों ने श्रृंखला बनाकर केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' का लोगो तैयार किया है. महिलाओं के गिरते लिंग अनुपात और बढ़ते भ्रूण हत्याओं को मद्देनज़र बच्चों ने बेटियों को बढ़ावा देने और उन्हें बेहतर शिक्षा और परवरिश देने का संदेश दिया है.

क्या है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना-

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य  बालिका  लिंग अनुपात में हो रही गिरावट और महिलाओं के सशक्तिकरण के संबंधित मुद्दों को बढ़ावा देना हैं ताकि महिलाओं की जीवन शैली को सुधारा जा सके ।

यह भारत सरकार के मंत्रालयों की एक त्रि-मंत्रालयी प्रयास है

.महिला बाल विकास

.स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण

.मानव संसाधन विकास

भारत की 2001 में जनगणना के समय 0-6 वर्ष के बच्चों का अनुपात 1000 लड़कों पर 927 लड़कियां थी जो 2011 में गिरकर 1000 लड़कों पर केवल 918 लड़कियां ही रह गयी हैं | UNICEF के आकड़ों के अनुसार 2012 में भारत 195 देशों की श्रेणी में 41 वें स्थान पर था |

 बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का उद्देश्य और मान्यता :-

 बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना का पूरा लक्ष्य है की बालिकाओं के जन्म पर खशियां मनाई जाएं, न की पुराने और दकियानुशी विचारों में फंस कर बालिकाओं के हितों का हनन हो । इस योजना को बालिकाओं की शिक्षा आदि उद्देश्यों और दृष्टिकोणों के तहत शुरू किया गया था।

 1 बालक बालिका में भेदभाव तथा लिंग परीक्षण को रोका जाये |

आज महिला अनुपात की एक बड़ी संख्या एशिया में कम हो रही है। हमारा देश इस अनुपात के शीर्ष पर है । इस योजना के तहत मुख्य रूप से महिला पुरुष लिंग अनुपात पर ध्यान केंद्रित किया गया है और एक बड़ा कदम लिंग पक्षपात की रोकथाम की दिशा में प्रयास किए जाएंगे।

 2 बालिकाओं के अस्तित्व और सुरक्षा को सुनिश्चित करना |

हमारे देश में हर दिन आप समाचार पत्रों में खबर पढ़ सकते हैं की एक महिला भ्रूण, एक अजन्मे महिला बच्चे को मृत पाया गया कचरे के डिब्बे में, रेलवे स्टेशन के पास में और अन्य क्षेत्रों में समाचार पत्र आदि में लपेट कर ये एक मामला बहुत उठता है । ये क्या हो रहा है हमारे देश में । हमारा देश बहुत बीमार और कमजोर है । बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत ये एक बहुत बड़ा कदम है की इस प्रथा को रोका जाये और हर बालिका के अस्तित्व की सुरक्षा को  सुनिश्चित किया जाये 

 3 शिक्षा और सभी क्षेत्रों में बालिकाओं की भागीदारी सुनिश्चित

भारत को मजबूत बनाने और एक बेहतर भारत बनाने के लिए बालिकाओं को बचाना और उनकी सुरक्षा जरुरी है । हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के अनुसार इस देश में हर बालिका को शिक्षित होना चाहिये ताकि वे बड़ी हो कर ये जान सकें की वे क्या करना चाहती हैं ।

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News