News

देश के हर व्यक्ति को मिल सकेगी 2600 रुपए इनकम: IMF

Created at - October 12, 2017, 5:45 pm
Modified at - October 12, 2017, 5:45 pm

 

IMF यानी इंटरनैशनल मॉनिटरी फंड ने भारत में प्रत्येक व्यक्ति को सालाना 2,600 रुपए की यूनिवर्सल बेसिक इनकम उपलब्ध कराने की संभावना जताई है. IMF के मुताबिक अगर भारत में फूड और एनर्जी पर सब्सिडी समाप्त कर दे तो देश के प्रत्येक व्यक्ति को सालाना 2,600 रुपये की यूनिवर्सल बेसिक इनकम (यूबीआई) उपलब्ध कराई जा सकती है। 

ये भी पढ़ें- नकली इनकम टैक्स की रेड.... फिर ये हुआ....!

हाल के समय से यूबीआई के मुद्दे पर काफी बहस हुई है और बहुत से देशों में इसका परीक्षण किया जा रहा है। आईएमएफ ने भारत के लिए इसकी संभावना पर विचार किया है।

ये भी पढ़ें- सोशल मीडिया पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर

हालांकि, आईएमएफ का कैलक्युलेशन 2011-12 के डेटा पर आधारित है और एनडीए सरकार के तहत फ्यूल सब्सिडी में आई भारी कमी और आधार के जरिए अन्य सब्सिडी के वितरण के मद्देनजर इस डेटा को एडजस्ट करने की जरूरत है। 

ये भी पढ़ें- अमेरिका की तुलना में भारत में इनकम टैक्स भरना आसान

यूबीआई की इतनी कम रकम के लिए भी जीडीपी के 3% की फिस्कल कॉस्ट आएगी। हालांकि इससे पब्लिक फूड डिस्ट्रीब्यूशन और फ्यूल सब्सिडी को लेकर कुछ समस्याओं से निपटा जा सकेगा। इससे जनवितरण प्रणाली (पीडीएस) में लोअर इनकम ग्रुप की पूरी कवरेज न होने, अधिक आमदनी वाले लोगों के सब्सिडी के बड़े हिस्से को हासिल करने जैसी समस्याएं दूर हो सकती हैं। 

2,600 रुपये की यूबीआई का आंकड़ा इस आधार पर निकाला गया है कि यह देश में फूड और फ्यूल सब्सिडी की जगह लेगी। हालांकि, इसका एक दूसरा पहलू यह है कि बड़े स्तर पर सब्सिडी को समाप्त करने के लिए कीमतों में काफी बढ़ोतरी करने की जरूरत होगी। आईएमएफ ने इसके लिए 2016 की एक स्टडी का हवाला दिया है। आईएमएफ का कहना है कि इससे यूबीआई के लिए फंड उपलब्ध हो सकेगा।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps