News

लोग बाढ़ में मर रहे थे और कांग्रेस विधायक बैंगलुरू में मजे कर रहे थे-मोदी 

Last Modified - October 30, 2017, 6:54 pm

दिल्लीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर सीधा हमला बोलते हुए कहा है कि कांग्रेस असंवेदनशील हो गई है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस असंवेदनशील हो गई है। मैं हैरान हूं कि जब गुजरात में बाढ़ आई, उस समय वहां राज्यसभा चुनाव चल रहे थे।

ये भी पढ़ें- आधार से मोबाइल लिंक करने की चुनौती पर ममता सरकार को फटकार

जब लोग बाढ़ में मर रहे थे, फसलें बर्बाद हो रही थीं और किसान परेशान थे, तो कांग्रेस के सभी विधायक बेंगलुरू में मज़े कर रहे थे। उसी समय आयकर विभाग ने एक मंत्री के घर पर छापा मारा और नोटों के बंडल बरामद किए।‘ प्रधानमंत्री ने कहा कि हम भ्रष्टाचार से लड़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें- रोहिंग्या आबादी कंट्रोल करने में कंडोम फेल

नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश की विकास परियोजनाओं को 'अटकाना', 'लटकाना' और 'भटकाना' ही कांग्रेस की 'कार्यसंस्कृति' है और उनकी (भारतीय जनता पार्टी) सरकार ने इस संस्कृति को खत्म करने के लिए कदम उठाए हैं. "कांग्रेस की कार्यसंस्कृति परियोजनाओं को रोकने के लिए अटकाना, लटकाना और भटकाना है।

ये भी पढ़ें- जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा मामले की सुनवाई 8 हफ्तों के लिए टली

आपको भारत में ऐसी हज़ारों परियोजनाएं मिल जाएंगी, जिन्हें राजनीतिक फायदा हासिल करने के लिए शुरू किया गया, लेकिन बाद में रोक दिया गया..." परियोजनाओं को लागू करने में देरी से इनकी लागत बढ़ गई और इस 'आपराधिक लापरवाही' के लिए पहले की सरकारों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए.

 

नरेंद्र मोदी ने वर्ष 1994 में शुरू की गई 1,542 करोड़ रुपये की लागत से बनी 107 किलोमीटर लंबी बीदर-कलबुर्गी रेलवे लाइन का उद्घाटन करने के मौके पर ये बात कही। 

उन्होंने जीएसटी के मुद्दे पर कांग्रेस के हमलों का जवाब देते हुएकहा कि सभी राज्य सरकारें इससे संबंधित फैसलों का हिस्सा थीं और इसे लागू करना सभी दलों का सामूहिक निर्णय था. प्रधानमंत्री ने कहा, "मैं उद्योग समुदाय से कहना चाहता हूं कि आप सुझाव दीजिए.

मेरी सरकार खुले दिमाग से काम करती है. हम सभी सुधार करने के लिए तैयार हैं।" आपको बता दें कि कांग्रेस के नेता खासकर उपाध्यक्ष राहुल गांधी का कहना है कि उनकी पार्टी जीएसटी की ऊपरी सीमा 18 फीसदी से ज्यादा करने के पक्ष में नहीं थी, लेकिन भाजपा सरकार ने उनकी एक बात भी नहीं सुनी।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

IBC24 SwarnaSharda Scholarship 2018

Related News