News

राहुल गांधी के सूरत दौरे पर क्यों लगे मोदी-मोदी के नारे ?

Last Modified - November 8, 2017, 5:50 pm

 

सूरत। चुनावों की तारीखों के नजदीक बढ़ते गुजरात में कांग्रेस नोटबंदी और जीएसटी जैसे मुद्दों को पूरी तरह भुनाने के मुड में दिख रही है। फिर इसी बीच नोटबंदी के एक साल पूरे होना जैसे कांग्रेस के लिए किसी वरदान से कम साबित नहीं हो रहा है। नोटबंदी की पहली सालगिरह को काले दिवस के रूप में मना रही कांग्रेस और उनके उपध्यक्ष राहुल गांधी इस मौके पर व्यापारियों का हाल जानने गुजरात के सूरत पहुंचे। जहां राहुल ने व्यापारियों से मुलाकात कर उनकी बातें सुनी।

ऐसा क्या बोल गए नरेंद्र मोदी कि भावुक हो गए उनके गुरू ?

लेकिन इस दौरान एक मौका ऐसा भी आया जब राहुल को असहज स्थिति का सामना करना पड़। दरअसल जब राहुल न्यू टेक्सटाइल मार्केट में ओर बढ़े तो कुछ लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाना शुरू कर दिया। इससे स्थिति काफी तनाव पूर्ण हो गई और बात कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई तक पहुंच गई। 

नोटबंदी का एक साल, सोशल मीडिया पर 8 नवंबर की बीजेपी - कांग्रेस जंग का रिहर्सल

लेकिन राहुल ने अपना दौरा जारी रखते हुए एम्ब्राॅयडरी वर्कर्स से भी मुलाकात की, इतना ही नहीं यह उन्होंने एम्ब्राॅयडरी पर हाथ भी आजमाया। राहुल के जाने के बाद जब व्यापारियों से उनके दौरे के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा की वे जमीन से जुड़े आदमी है और हम राहुल से मिलकर काफी खुश है। 

अमन वर्मा, IBC24

Trending News

Related News