News

भाजपा सांसद ने राहुल गांधी को बताया नगर वधू, पूछा दादा याद क्यों नहीं आते ?

Created at - November 13, 2017, 7:38 pm
Modified at - November 13, 2017, 7:58 pm

उज्जैन। एक नगर वधु ही सबसे ज्यादा धर्म निरपेक्ष होती है। मन में ये प्रशन भी आता है कि राहुल गांधी वाली धर्म निरपेक्षता कहीं उस नगर वधू के जैसी तो नहीं ? अब हम नगर वधू  की व्याख्या पर तो नहीं जाएंगे लेकिन इन शब्दों का उपयोग उज्जैन से भाजपा सांसद चिंतामणी मालवीय ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल के लिए किया है। चिंतामणी मालवीय ने फेसबुक पर एक लंबा-चौड़ा लेख लिखा है जिसमें उन्होंने राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा, मालवीय लिखते है कि यह देखकर बड़ी खुशी हुई कि गुजरात में जाकर राहुल गांधी धार्मिक हो गए हैं। लेकिन अगली ही लाइन में वे राहुल से सवाल करते है कि वे केवल गुजरात के मंदिरों में ही क्यों जा रहे है कभी कश्मीर, कर्नाटक या केरल के मंदिरों में क्यों नहीं जाते है।

राहुल ने मंदिर से शुरू किया गुजरात दौरा

उन्होंने राहुल गांधी की धार्मिकता को कुछेक दिनों का दिखावा करार दिया। मालवीय आगे लिखते है कि राहुल गांधी वाली धर्म निरपेक्षता कहीं उस नगर वधु के जैसी तो नहीं जो सबसे ज्यादा धर्म निरपेक्ष होती है। चलो ये भी अच्छा ही है कि तुम्हारी थोथी ही सही, ओढ़ी ही सही धर्मनिरपेक्षता के छींटे ही सही, मन्दिरों तक पहुंचे तो सही। अन्यथा अभी तक तो जालीदार टोपी धारण करके रोजा इफ्तारी और दरगाहों पर चादर चढ़ाने के उपक्रम तक ही धर्मनिरपेक्षता सिमटी हुई थी। उन्होंने अपने लेख से राहुल को उनके उस बयान की याद भी दिलाई जिसमें राहुल ने कहा था कि लड़के मंदिरों में लड़कियां छेड़ने जाते है। मालवीय राहुल से उनके इस बयान के लिए खंडन मांग रहे थे।

राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला, कहा खाली करो सिंहासन

उन्होंने राहुल गांधी के गोशाल जाने की सराहना करते हुए अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि आज कल आप गोशाला भी जा रहे है। जाना भी चाहिए। बहुत अच्छी बात है लेकिन फिर उन कांग्रेसियों पर आप खामोश क्यों है जिन्होंने केरल में एक मासूम बछड़े को बीच चैराहे पर काटकर उसके गौमांस की पार्टी की थी। मालवीय ने राहुल पर वोट के लिए राजनीति करने का आरोप लगाया।

चिंतामणी मालवीय का फेसबुक पोस्ट 

आगे उन्होंने राहुल के विदेशी दौरों और नानी के घर जाने पर भी सवाल उठाए। मालवीय ने लिखा कि राहुल आप अपने भाषणों में दादी-दादी करते हैं लेकिन आपको कभी अपने दादाजी की याद क्यों नहीं आती ? आप गांधी करते हो उनकी समाधियों पर जाते हो पर कभी दादा की मजार पर नहीं जाते। भला उनसे क्या दुश्मनी हो गयी ? मालवीय ने अपने पूरे लेख में तीव्र और चुभते हुए सवाल राहुल से किए है। उन्होंने टीपू सुल्तान की जयंती से लेकर अक्षरधाम हमले में शामिल अब्दुल राशिद तक पर राहुल से सवाल किया है। अब देखना है कि क्या राहुल की तरफ से इस पर कोई प्रतिक्रिया आती है। 

 

अमन वर्मा, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News