News

बाल दिवस विशेष : वे फिल्में जो आपका बचपन लौटा देंगी

Last Modified - November 13, 2017, 9:36 pm

बाल दिवस क्यों मनाया जाता है और उसे मनाने के पिछे क्या करण है इन बातों से इतर हम इस खास दिन को बच्चों की तरह ही मनाना चाहते है। हम सभी अपना बचपन मिस करते है और हर कोई चाहता है कि उसे उसके बचपन की वे यादें फिर जीने को मिल सकें जो उसने जवानी के इंतजार में गवां दी। क्या ऐसा संभव की आप अपना बचपन एक बार फिर जी सकें। जी हां ऐसा बिलकुल संभव है। ऐसा संभव है सिनेमा के माध्यम से, किसी अनजान विचारक ने फिल्मों के बारे में एक महान बात कही उन्होंने कहा की फिल्में सिर्फ मनोरंजन का हिस्सा नहीं बल्कि यह वह जो समय होता है जब आप उस किरदार को उस कहानी को जी रहे होते है। इसलिए हम बाल दिवस के मौके पर आपके लिए कुछ ऐसी चुनिंदा फिल्में लेकर आए है जिन्हे यदि आपने नहीं देखा तो बिल्कुल देर मत कीजिए और अपने अंदर छुपे बच्चे को बाहर आने का मौका दीजिए।

करामाती कोट 

बाल चित्र समिति द्वारा तैयार की गई यह 90 मिनिट की फिल्म एक ऐसे बच्चे के जीवन पर आधारित है जो अपनी दीदी-जीजा के साथ रहता है। परिवारिक समस्याओं के कारण उसे घर छोड़कर जाना पड़ता है। फिर उसकी मुलाकात होती उस बुजुर्ग महिला से जिसके बारे में उसने कई कहानीयां सुन रखी थी।

वह बुजुर्ग महिला उसे राजू को एक लाल रंग का कोट तोहफे में देती है जिसके बाद फिल्म की असली कहानी शुरू होती है। राजू जब भी अपने कोट की जेब में हाथ डालता है उसमें से एक रूपए का सिक्का निकलता है। फिल्म देखकर और राजू और उसके दोस्तों से मिलकर आप अपने बचपन को पक्का मिस करने वाले है। 

 

मकड़ी 

इस फिल्म को अगर आपने अपने बचपन में मिस कर दिया है तो अपको देर नहीं करनी चाहिए क्योंकि इस फिल्म की कहानी और चुन्नी और मुन्नी के रोल में श्वेता बासु ने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट जबरजस्त अभिनय किया है। फिल्म आपको गुदगुदाने के साथ ही कहीं ना कहीं भावुक और सोचने के लिए मजबूर कर देती है।

फिल्म की कहानी में दो जुड़वा बहनों से शुरू होती है एक बदमाश एक शांत लेकिन कहानी में आपको सबसे ज्यादा एंटरटेन करने वाली है शबाना आजमी जिन्होंने इस फिल्म के लिए एक चुलैड का रोल किया है। हांलाकि डरने की जरूरत नहीं है यह रोल आपकों गुदगुदाएगा भी और डराएगा भी कुल मिलाकर इस फिल्म में मनोरंजन के साथ ही बच्चों के सीखने के लिए बहुत कुछ है। 

 

छोटा चेतन

फिल्म का नाम सुनकर चौकिये मत यह फिल्म के बाल किरदार का नाम है जो कि एक तांत्रिक के चुंगुल से निकलकर कुछ बच्चों को मिल जाता है। चूकिं चेतन के पास कुछ दिव्य शक्तियां होती है तांत्रिक उसे वस में करके उसे अपने बुरे कामों में इस्तेमाल करना चाहता है।

लेकिन किस तरह चेतन अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर उस तांत्रिक और अन्य लोगों की छुट्टी कर देता है यह देखने लायक है फिल्म में आपको भरपूर जादू देखने को मिलेगा। कुछ सीन देखकर तो आप शायद चैक भी जाएं की इतने छोटे बच्चे ने इस तरह के करतब किए कैसे होंगे। 

 

अमन वर्मा, IBC24

 

Trending News

Related News