News

छत्तीसगढ़ मनाएगा बिजली तिहार ,सौभाग्य योजना का आयोजन

Last Modified - November 14, 2017, 11:14 am

बिजली आज इंसान की पहली जरुरत में शामिल है अमीर गरीब हर किसी को रौशनी की ज़रूरत होती ही है जिसे ध्यान में रख कर  प्रदेश के हर एक घर को रोशन करने की महत्वाकाँक्षी सौभाग्य योजना को सफल बनाने के लिए प्रदेशभर में बिजली तिहार का आयोजन किया जा रहा है. इसे सफल बनाने के लिए मुख्यसचिव विवेक  ढाँढ ने राज्य के सभी कलेक्टरों को पत्र लिखा है. इसमें उन्होंने कलेक्टरों से बिजली तिहार को सफल बनाने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिए हैं. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने प्रदेश के हर घर को रोशन करने के लिए सितंबर 2018 तक लक्ष्य रखा है. इस संबंध में मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए थे. इसके मद्देनजर मुख्य सचिव ने पत्र के माध्यम से फिल्ड के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अधिक परिश्रम कर योजना के बेहतर क्रियान्वयन करने तथा इसके लिए स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ जनभागिदारी को बढ़ावा दिए जाने पर बल दिया है.

      मुख्य सचिव ने पत्र के माध्यम  से कलेक्टरों से कहा है कि बिजली तिहार के दौरान वे पूर्ण रूप से ऊर्जित गाँवों, पंचायतों,विकास खण्डों एवं जिलों को क्रमश: ऊर्जित ग्राम, ऊर्जित ग्राम पंचायत, ऊर्जित विकासखण्ड,ऊर्जित जिला घोषित करें. इससे अन्य जनप्रतिनिधियों को बेहतर करने की प्रेरणा मिलेगी. बिजली तिहार के दौरान गाँव – गाँव में शिविरों का आयोजन किया जाएगा तथा इस दौरान सौभाग्य योजना के लिए हितग्राहियों का पंजीयन एवं बिजली को लेकर जनजागरूकता के प्रयास भी किए जाएंगे. राज्य में 98.67 प्रतिशत से अधिक ग्राम विद्युतीकृत हो चुके हैं और 7000 से अधिक मजरा –टोला एवं 465 गांवों में विद्युतीकरण पूरा कर लिया जाना है. सौभाग्य योजना के तहत प्रदेश के 4 लाख 65 हजार से अधिक घरों को विद्युत कनेक्शन से जोड़ा जाना है.

श्री ढाँढ ने पत्र में कलेक्टरों से कहा है कि उनके मार्गदर्शन में हितग्राहियों को योजना का लाभ दिलाने के लिए गाँव – गाँव में शिविरों का आयोजन किया जाए. पत्र में बताया गया है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी सहज बिजली हर घर योजना के माध्यम से हर घर को रोशन करना और इसके माध्यम से लोगों के जीवन और सामाजिक परिवेश में महत्वपूर्ण बदलाव लाना चाहते हैं.

बिजली कनेक्शन से हर घर को जोड़ने तथा विद्युत आपूर्ति सुचारू बनाए रखने के लिए छ्त्तीसगढ़ राज्य पॉवर कंपनी द्वारा किए जा रहे अधोसंरचना विकास कार्यों का उल्लेख पत्र में किया गया है. इसके लिए बनाए जा रहे 220/132/33 केव्ही उपकेन्द्रों के शिलान्यास एवं लोकार्पण कार्यक्रमों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों तथा आम जन की सहभागिता को बढ़ाया जाए. उन्होंने पॉवर फॉर ऑल के लक्ष्य के तहत गुणवत्तापूर्ण बिजली की उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा बिलिंग एवं कलेक्शन एफिसिंयेंसी बढ़ाने,वितरण हानि की रोकथाम के उपायों को बढ़ावा देने हेतु जागरूकता लाने के प्रयास करने के निर्देश दिए हैं.

 मुख्यसचिव ने आशा व्यक्त की है कि सौभाग्य शिविरों के माध्यम से लोगों में ऊर्जा संरक्षण के प्रति जागरूकता लायी जाए तथा सौर ऊर्जा से जुड़ी विभिन्न योजनाओं जैसे सौर सुजला योजना, रूफटॉप योजना,पेयजल योजना,सोलर हाईमास्ट लैम्प , एलईडी बल्ब योजना से जोड़ने का प्रयास किया जाएगा.

Trending News

Related News