News

यहां परंपरा के नाम पर 15 दिनों तक होती है निर्वस्त्र लड़कियों की पूजा

Last Modified - November 14, 2017, 8:46 pm

अपनी पौराणिक परंपराओं और रीति रिवाजों के कारण भारतीय संस्कृति सदैव एक कौतुहल का विषय रही है। कुछ ऐसी परंपराएं भी है जो बहुत ही अजीब है लेकिन सत्य है। ऐसी ही एक परंपरा पिछले कई दशकों से तमिलनाडु के मैदूर जिले में स्थित येजाइकाथा अम्मान मंदिर में निभाई जाती है। यहां देवी पूजा के नाम पर लड़कियों को 15 दिनों तक निर्वस्त्र रखने की रस्म निभाई जाती है। इतना ही नहीं माता पिता खुद अपनी बेटी को इस रस्म का हिस्सा बनने के लिए यहां भेजते है।

आसपास के करीब 60 गांवों के लोगों का मानना है कि यदि इस अनुष्ठान के लिए उनकी बेटी का चयन होता है तो उनकी लड़की भग्यशाली है। इस रस्म की शुरूआत होती है पंडित के सामने परेड से जी हां एक पुरूष पंडित के सामने पहले इच्छुक लड़कियां परेड निकाती है उसके बाद वह पंडित उन लड़कियों में से 7 लड़कियों को इस अनुष्ठान के लिए चुनता है।

जिसके बाद उन लड़कियों को 15 दिनों तक मंदिर के एक कक्ष में नग्न रखा जाता है लड़कियों को कमर से उपर कुछ भी पहनने की इजाजत नहीं होती वे इन 15 दिनों तक ऐसे ही अर्धनग्न अवस्था में मंदिर के पुजारी की देखरेख में रहती है।

दुगनी उम्र के लड़के से प्यार कर बैठी 20 साल की युवती, फिर ये हुआ

इन 15 दिनों के दौरान लड़कियों को किसी से मिलने की इजाजत नहीं मिलती यहां तक की वे अपने मात-पिता से भी नहीं मिल सकती। पूजा पाठ के इन 15 दिनों तक इन लड़कियों के उपरी हिस्से में सिर्फ फूल माला और जेवर होते है। प्राचीन समय से चली आ रही इस परंपरा में आसपास के 60 गांवों के लोग हिस्सा लेते है। 

 

अमन वर्मा, IBC24

Trending News

Related News