News

15 दिसंबर से संसद का शीत सत्र, पेश होंगे तीन तलाक व ओबीसी आयोग बिल 

Created at - November 24, 2017, 11:32 am
Modified at - November 24, 2017, 11:32 am

दिल्ली। संसद का शीतकालीन सत्र 15 दिसंबर से शुरू होगा और 5 जनवरी तक चलेगा। 

ये भी पढ़ें-व्यापमं केस में 200 से ज्यादा आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी

 

शीत सत्र की घोषणा में देरी को लेकर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चुटकी ली थी, जिसके बाद बुधवार को कैबिनेट की राजनीतिक मामलों की समिति की बैठक हुई। इसी बैठक में शीत सत्र के कार्यक्रम को लेकर लिए गए फैसले की घोषणा आज संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने की है।

संसदीय कार्यमंत्री ने सभी राजनीतिक दलों से आग्रह किया है कि वो शीत सत्र के दौरान सदन के सुचारु संचालन में अपना सहयोग दें और नववर्ष समेत सभी 14 कार्यदिवसों पर कार्यवाही में मौजूद रहें। 

इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विपक्ष के आरोपों का खंडन करते हुए कहा था सरकार संसद में चर्चा से भागना नहीं चाहती, बल्कि चुनाव सहित अन्य कारणों से सत्र बुलाने में देरी हुई है। आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा के लिए दो चरणों के तहत 9 और 14 दिसंबर को मतदान होना है।

ये भी पढ़ें- चित्रकूट में वास्कोडिगामा एक्सप्रेस के 13 डिब्बे हुई डिरेल, 3 की मौत

संसद का ये शीत सत्र काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि इसी सत्र में सत्तापक्ष  तीन तलाक के खिलाफ बिल पेश करेगी। इसके अलावा ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाला बिल भी इसी सत्र में पेश किया जाना है।

ये भी पढ़ें- सरकार के अल्टीमेटम पर शिक्षाकर्मियों की चेतावनी, परिवार सहित देंगे धरना

विपक्ष इस सत्र में अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती पर चर्चा के संकेत दे रहा है, अगर ये चर्चा हुई तो नोटबंदी के एक साल की समीक्षा और जीएसटी की विसंगतियों को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष आमने-सामने आ सकते हैं।

 

वेब डेस्क, IBC24


Download IBC24 Mobile Apps

Trending News

Related News