रायपुर News

''सोमवार तक काम पर नहीं लौटने वाले शिक्षाकर्मी होंगे बर्खास्त''

Last Modified - November 25, 2017, 9:50 am

रायपुर। स्कूलों में ताला लगाकर हड़ताल कर रहे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों पर सरकार के तीन दिन के अल्टीमेट का कोई असर नहीं हुआ है। आज पांचवे दिन भी वे अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर डटे रहे। इधर, अपर मुख्य सचिव एमके राउत और स्कूल प्रमुख सचिव विकासशील ने सभी जिला पंचायत के CEO से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हड़ताल के असर को लेकर जिलेवार जानकारी ली।

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ के सरकारी कर्मचारियों के DA में इजाफा

ये भी पढ़ें- एसबीआई बैंक की इस ब्रांच को नगर निगम ने किया सील

जिसमें अधिकांश जिलों के CEO ने बताया कि उनके जिलों में अधिकतर प्रोवेशनर शिक्षाकर्मी स्कूल में लौट आए हैं। वहीं जिन स्कूलों के शिक्षाकर्मी हड़ताल पर हैं, वहां वैकल्पिक शिक्षकों की व्यवस्था की गई है। एमके राउत ने कहा कि सोमवार तक जो काम पर नहीं लौटेंगे, उन्हें बर्खास्त किया जाएगा। साथ ही जो वैकल्पिक रूप से स्कूलों में सेवाएं दे रहे हैं, उन्हें भविष्य में ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाली भर्ती में प्राथमिकता दी जाएगी।

ये भी पढ़ें- छत्तीसगढ़ की अनुबंधित मित्रता मितानिन

ये भी पढ़ें- मिस्र की मस्जिद में आतंकी हमला, 200 की मौत

इधर, प्रदेश की राजधानी रायपुर के अलावा दुर्ग, रायगढ़, अंबिकापुर, जांजगीर, महासमुंद, जगदलपुर समेत दूसरे जिला मुख्यालयों में भी शिक्षाकर्मियों का प्रदर्शन जारी रहा। शिक्षाकर्मियों का कहना है कि मांगें पूरी होने तक वे हड़ताल करेंगे। बलरामपुर में भाजपा अनुसूचित जाति जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष सिद्धनाथ पैकरा और सूरजपुर में भाजपा नेता और जिला पंचायत उपाध्यक्ष भाजपा गिरीश गुप्ता ने शिक्षाकर्मियों के आंदोलन का समर्थन किया है।

ये भी पढ़ें- माॅल में नग्न घूमती रही लड़की, देखें वायरल वीडियो 

 

 

वेब डेस्क, IBC24

 

 

Trending News

Related News