News

मूवी रिव्यू-जूली 2

Created at - November 25, 2017, 6:38 pm
Modified at - November 25, 2017, 6:38 pm

 

करीब 13 साल पहले जब नेहा धूपिया स्टारर 'जूली' रिलीज हुई तो उस वक्त बॉक्स आफिस पर इस फिल्म के हिट होने की सिर्फ एक ही वजह थी कि नेहा ने करियर के शुरुआती दौर में ही जमकर एक्सपोज किया था। उनकी बोल्ड ब्यूटी ने फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर औसत हिट बना दिया। अब लंबे अर्से बाद इसी टाइटल को तीसरी बार एकबार फिर कैश किया गया तो इस बार भी फिल्म की यूएसपी सिर्फ फिल्म की लीड ऐक्ट्रेस के एक से बढ़कर एक बोल्ड सीन्स हैं। फिल्म के बोल्ड सब्जेक्ट के अलावा और कुछ नहीं है। साउथ में अपनी पहचान बना चुकीं राय लक्ष्मी ने बॉलिवुड में अपनी एंट्री को धमाकेदार बनाने के मकसद से इस फिल्म में जमकर एक्सपोज किया। फिल्म की रिलीज से कुछ दिन पहले इस फिल्म के कुछ बोल्ड सीन्स इंटरनेट पर लीक होने से फिल्म की लीड ऐक्ट्रेस अपसेट भी हुईं लेकिन जानकार इसे फिल्म को बॉक्स आफिस पर हिट बनाने का शार्टकट बता रहे हैं.

स्टोरी प्लॉट: जूली एक ऐसी लड़की है जो बॉलिवुड में अपना करियर बनाना चाहती है। वह गजब की खूबसूरत है, इसी कारण उसे लगता है कि ग्लैमर वर्ल्ड में वह जल्द ही अपनी अलग जगह बना लेगी लेकिन यहां आने पर जूली को सबसे पहले कास्टिंग काउच के बारे में पता चलता है। उसे इंडस्ट्री में काम हासिल करने के लिए समझौता करना पड़ता है। वह गुजरते वक्त के साथ-साथ नाम और शोहरत कमाने में कामयाब होती है। अब शहर हीं नहीं, देश में जूली के लाखों फैन हैं। कहानी में टर्न उस वक्त आता है जब जूली को मुंबई शहर छोड़कर कहीं और जाने की धमकियां मिलने लगती हैं। इसी बीच जूलरी स्टोर में पहुंची जूली पर जानलेवा हमला होता है लेकिन हमले को पुलिस पहले डकैती बताती है लेकिन एसीपी देवदत्त को इस हमले का मकसद जूली की जान लेना ही लगता है। 

 

फिल्म के मेकर्स का दावा है कि यह फिल्म 90 के दशक में मुंबई में अपना करियर शुरू करने आई एक ऐक्ट्रेस की सच्ची कहानी पर बेस्ड है। वह इंडस्ट्री के नंबर वन स्टार्स के साथ करियर की शुरुआत करना चाहती थी लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। कुछ बी और सी क्लास की फिल्में करने के बाद इस ऐक्ट्रेस ने साउथ का रूख किया और वहां अपनी अलग पहचान बनाई। फिल्म के निर्माताओं ने फिल्म को कानूनी परेशानी से बचाने के लिए कहीं इस ऐक्ट्रेस के नाम का खुलासा नहीं किया है। साउथ में अपनी पहचान बना चुकीं राय लक्ष्मी ने इस फिल्म में ऐक्टिंग से कहीं ज्यादा ध्यान एक्सपोज करने पर लगाया है। रवि किशन और पंकज त्रिपाठी अपने किरदारों में ठीक-ठाक लगे हैं। डायरेक्टर दीपक ने फिल्म की कहानी पर ज्यादा फोकस करने के बजाय अपना ध्यान फिल्म को ज्यादा से ज्यादा बोल्ड बनाने पर लगाया है। दीपक ने लक्ष्मी की ब्यूटी को हर ऐंगल से फिल्म का हिस्सा बनाने की कोशिश करने के सिवा और कुछ नहीं किया है। काश, वह अपना कुछ ध्यान फिल्म की स्क्रिप्ट पर भी लगाते। फिल्म में कई गाने हैं जो फिल्म में ही आपको अच्छे लग सकते हैं लेकिन थिअटर से बाहर आने के बाद आप सब भूल जाएंगे। कैमरामैन ने लोकेशन पर ध्यान देने के बजाय लक्ष्मी के अतरंग सीन्स को और ज्यादा बोल्ड बनाकर दिखाने पर फोकस किया है। कुल मिलाकर अगर आप सिर्फ सेक्सी सीन्स और बोल्ड फिल्मों के शौकीन हैं तभी आपको यह फिल्म देखने जाना चाहिए वरना इस फिल्म में ऐसा कुछ नहीं है जिसे देखने के लिए वक्त और पैसा लगाया जाए। 


Download IBC24 Mobile Apps